DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  रणजी ट्रॉफी फाइनल: गुस्से में जयदेव उनादकट ने तोड़ा मिडिल स्टंप- VIDEO

क्रिकेटरणजी ट्रॉफी फाइनल: गुस्से में जयदेव उनादकट ने तोड़ा मिडिल स्टंप- VIDEO

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mridula
Thu, 12 Mar 2020 06:28 PM
रणजी ट्रॉफी फाइनल: गुस्से में जयदेव उनादकट ने तोड़ा मिडिल स्टंप- VIDEO

रणजी ट्रॉफी के 2019-20 फाइनल चल रहा है। सौराष्ट्र और बंगाल दोनों टीमें अपने खेल के साथ-साथ मैदान पर जुबानी जंग भी छेड़ रही हैं। राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर रणजी फाइनल के चौथे दिन सुबह के सत्र में यही सब देखने को मिला। ऐसा लगा कि खिलाड़ियों और टीमों का सब कुछ दांव पर लगा है। सौराष्ट्र के कप्तान जयदेव उनादकट, सुदीप चटर्जी और ऋद्धिमान साहा के बीच चौथी विकेट के लिए बड़ती साझेदारी से परेशान हो रहे थे। इसका परिणाम यह हुआ कि जब उन्होंने गेंद गुस्से में बल्लेबाज की तरफ फेंकी तो मिडिल स्टंप  तोड़ दिया।

यह वाक्या लंच से पहले हुआ। चटर्जी और साहा ने सौराष्ट्र के गेंदबाजों को काफी परेशान कर दिया था। खासतौर पर साहा ने बेहतरीन बल्लेबाजी की। भारतीय टीम के इस विकेटकीपर-बल्लेबाज का कैच उनादकट की गेंद पर विश्वराज जडेजा ने छोड़ दिया था। लंच के बाद सौराष्ट्र ने कॉट बिहाइंड की अपील साहा के लिए की, लेकिन रिप्ले में साफ दिखाई दिया कि बल्ला जमीन से लग चुका था।

सुरेश-आसिफ की बाप-बेटे की जोड़ी ने लोगों को जमकर हंसाया, मजेदार VIDEO वायरल

भारतीय टेस्ट विकेटकीपर का यह सत्र का पहला रणजी मैच है, वह सौराष्ट्र के मुख्य तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट की एलबीडब्ल्यू की दो अपील पर डीआरएस में बचने में सफल रहे और एक बार एक रन लेने के प्रयास में रन आउट से बचे। जब वह 46 रन पर थे तो गली में कैच छूटने से उन्हें जीवनदान मिला क्योंकि यह गेंद चौके लिए चली गई, जिससे उनका अर्धशतक पूरा हुआ। डीआरएस फिर चर्चा का विषय रहा, जिसमें दोनों फैसले गेंदबाज उनादकट के खिलाफ रहे जबकि दोनों अवसरों पर बल्लेबाज साहा ही थे।

इस दौरान जयदेव उनादकट काफी परेशान नजर आए। इस गुस्से में उन्होंने बॉल को मिडिल स्टंप पर भी दे मारा था। जिसके बाद स्टंप टूट गया और नया स्टंप लगाना पड़ा।

इससे पहले बंगाल के प्रमुख कोच अरुण लाल ने विकेट की आलोचना करते हुए कहा, ''बहुत ही खराब विकेट है। बोर्ड को इन चीजों के बारे में देखना चाहिए। यह विकेट क्रिकेट के लिए ठीक नहीं है।''

पिच क्यूरेटर ने हालांकि अरुण की बात का खंडन किया और कहा कि विकेट में पुअर जजमेंट की वजह से बल्लेबाज और गेंदबाज मात खा रहे हैँ। उन्होंने कहा, ''बंगाल कोच द्वारा जल्दबाजी में लिए गये खराब निर्णयों का परिणाम है कि कोच को इस तरह के बयान देने पड़ रहे है।''

संबंधित खबरें