DA Image
8 जुलाई, 2020|1:04|IST

अगली स्टोरी

जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी देखकर इस खास वजह से हैरान रह गए इयान बिशप

ian bishop photo hindustan times

वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज इयान बिशप ने मौजूदा टीम इंडिया के पेस अटैक की जमकर तारीफ की है। इस दौरान उन्होंने जसप्रीत बुमराह को लेकर भी अहम बातें कही हैं। बिशप ने बताया कि वो इस बात से हैरान रहते हैं कि बुमराह की गेंद में स्पीड कहां से आती है। बुमराह छोटे रन-अप से गेंदबाजी करते हैं, उनके बॉलिंग एक्शन और रन-अप को लेकर बिशप ने अपनी राय रखी है।

बिशप ने कहा कि जब उन्होंने जसप्रीत बुमराह को पहली बार देखा तो वो उन्हें तेज गेंदबाज के मानदंडों पर फिट नहीं लगे थे। उन्होंने कहा, 'तेज गेंदबाजों के बारे में मेरा यही मानना था कि जिनका लंबा और अच्छी रिदम वाला रन-अप हो जैसे वेस हॉल, सर रिचर्ड हैडली, डेनिस लिली, मार्शल और होल्डिंग का। जसप्रीत उसके ठीक उल्टे थे। उसका रन-अप छोटा था और उसमें रिदम नहीं थी।' बिशप ने कहा, 'आज तक मैं हैरान हूं कि उसकी गेंदों में तेजी कहां से आती है। वो बेहद कुशल गेंदबाज है। उदाहरण के लिए जिस तरह से उसने कैरेबियाई मैदानों पर गेंद स्विंग करायी, वो जिस तेज गति से गेंद करता है और तब भी उस पर कंट्रोल बनाए रखता है। वो प्रतिभाशाली है, अगर वो फिट बने रहता है तो फिर वह संपूर्ण गेंदबाज है।'

'अख्तर की बाउंसर पर डर से आंखें बंद कर ले रहे थे सचिन तेंदुलकर'

'भारत में तेज गेंदबाजों की बेस्ट पीढ़ी है ये'

बिशप ने मौजूदा टीम इंडिया के पेस अटैक की तुलना कैरबियाई टीम के पूर्व के खौफनाक तेज गेंदबाजों से करते हुए कहा कि विदेशों में सफल होने की इच्छा से ही भारत लगातार खतरनाक तेज गेंदबाजों को तैयार कर रहा है। बिशप ने कहा कि इसकी शुरुआत जहीर खान, आर पी सिंह, मुनाफ पटेल से हुई जो कपिल देव और जवागल श्रीनाथ के नक्शेकदमों पर आगे बढ़े। उन्होंने 'क्रिकबज' से कहा, 'यह शायद भारत में तेज गेंदबाजी की प्रतिभाओं की बेस्ट पीढ़ी है और इसकी शुरुआत कुछ समय पहले हुई थी।' बिशप ने कहा, 'हम जहीर, आरपी सिंह, मुनाफ पटेल और उस दौर के कुछ गेंदबाजों से शुरुआत मान सकते हैं जो कपिल देव का अनुसरण करने वाले श्रीनाथ के बाद आए। यह देखकर बहुत अच्छा लगता है।'

क्रिकेट की वापसी पर विराट कोहली के नाम दर्ज होंगे तेंदुलकर के ये रिकॉर्ड्स

जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में भारत के पास अभी सबसे खौफनाक तेज गेंदबाज इकाई है। मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव और इशांत शर्मा आक्रमण में विविधता पैदा करते हैं। बिशप ने कहा, 'बाहर से देखने पर मुझे ऐसा लगता है कि भारत यह समझ गया कि बल्लेबाज अच्छे हैं लेकिन अगर हमें विदेशों में जीत दर्ज करनी है तो हमें एमआरएफ पेस फाउंडेशन और एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) से भी खिलाड़ी लेने होंगे। इन तेज गेंदबाजों को बढ़ावा देने के लिए सपाट और टर्निंग पिचें बनाने के बजाय तेज गेंदबाजों के अनुकूल पिचें बनानी होंगी।'

'कैरेबियाई तेज गेंदबाजों की याद दिलाते हैं मौजूदा भारतीय तेज गेंदबाज'

वेस्टइंडीज की तरफ से 43 टेस्ट मैचों में 161 विकेट लेने वाले बिशप ने कहा कि मौजूदा भारतीय गेंदबाजी इकाई उन्हें वेस्टइंडीज के उस तेज गेंदबाजी आक्रमण की याद दिलाती है जिसमें एंडी राबर्ट्स, माइकल होल्डिंग, जोएल गार्नर, मैलकम मार्शल और कोलिन क्राफ्ट शामिल थे। बिशप ने कहा, 'और अब जबकि आपके पास तीन तेज गेंदबाज और कुछ मौकों पर चार तेज गेंदबाज और एक स्पिनर होता है तो मुझे तब मेरी पीढ़ी से पहले की कैरेबियाई तेज गेंदबाजी की चौकड़ी की याद आती है जिसमें मार्शल, होल्डिंग, गार्नर, राबर्ट्स थे। मैं इनमें कोलिन क्राफ्ट को भी शामिल करूंगा।'

(एजेंसी इनपुट के साथ)
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jasprit bumrah is entire package says ian bishop