फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटमहान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने रोहित शर्मा की तारीफ कर बताया, टेस्ट क्रिकेट में क्यों इतने सफल हैं 'हिटमैन'

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने रोहित शर्मा की तारीफ कर बताया, टेस्ट क्रिकेट में क्यों इतने सफल हैं 'हिटमैन'

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने शानदार तरीके से टेस्ट क्रिकट में वापसी की है। रोहित इस साल टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में...

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने रोहित शर्मा की तारीफ कर बताया, टेस्ट क्रिकेट में क्यों इतने सफल हैं 'हिटमैन'
Ezaz Ahmad लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Fri, 24 Dec 2021 04:57 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने शानदार तरीके से टेस्ट क्रिकट में वापसी की है। रोहित इस साल टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उन्होंने जिस तरह का प्रदर्शन किया, उसकी हर किसी ने तारीफ की। ​​'हिटमैन' के नाम से मशहूर रोहित ने इ्ंग्लैंड के खिलाफ खेले गए चार टेस्ट मैचों में टीम के लिए सर्वाधिक 368 रन बनाए थे। हाल में टेस्ट टीम के नए उप-कप्तान बनाए गए रोहित ने टेस्ट क्रिकेट की जरूरतों के अनुकूल होने के लिए अपने स्वभाव और बल्लेबाजी शैली में किए गए बदलावों पर ध्यान दिया था, खासकर विदेशी परिस्थितियों में। रोहित ने इस साल की शुरुआत में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से मात दी थी। क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारुप में रोहित की शानदार बल्लेबाजी की भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी कायल हुए हैं। 

सचिन ने बोरिया मजूमदार के साथ बातचीत के दौरान रोहित की तारीफ करते हुए कहा, 'यह मानसिक है, जब आप खुद से यह कहना शुरू करते हैं कि यह कुछ ऐसा है जो मैं नहीं करने वाला यह होगा। मैं ज्यादा से ज्यादा यही कहूंगा कि कोशिश करें और अपने आप से पूछें कि आपको क्या करने की उम्मीद है और आप क्या करना चाहते हैं, बजाय इसके कि आपको क्या नहीं करना चाहिए।'

भारत के लिए टेस्ट और वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले सचिन ने आगे कहा, 'विरोधी टीम घबराई हुई मानिसकता का फायदा उठा सकती है। यह सब पॉजिटिव माइंडसेट के बारे में है। आपके शरीर में बहने वाली सकारात्मक ऊर्जा को दर्शाती है। जिस तरह से आदमखोर को अपने शिकार के बारे में पता चलता है कि वह कहीं आस पास है। उसी तरह रोहित भी जानते हैें कि कैसे और कब गेंदबाजों पर आक्रमण करना है।' 

epaper