Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटवर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर बोले भारतीय गेंदबाज, टीम को खिताब दिलाने के लिए लगाएंगे पूरा दमखम

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर बोले भारतीय गेंदबाज, टीम को खिताब दिलाने के लिए लगाएंगे पूरा दमखम

एजेंसी,नई दिल्लीShubham Mishra
Fri, 11 Jun 2021 10:21 PM
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर बोले भारतीय गेंदबाज, टीम को खिताब दिलाने के लिए लगाएंगे पूरा दमखम

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अब महज कुछ दिनों का समय शेष है। भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले फाइनल मुकाबले पर पूरे विश्व क्रिकेट की निगाहें टिकी हुईं हैं। इंग्लैंड में खेले जाने वाले डब्ल्यूटीसी के फाइनल में गेंदबाजों का रोल काफी अहम माना जा रहा है। भारत गेंदबाजों का प्रदर्शन पिछले कुछ सालों में विदेशी सरजमीं पर बेमिसाल रहा है और विराट कोहली अपने बॉलरों से एकबार फिर धारदार गेंदबाजी की आस लगाए बैठे होंगे। इसी बीच, बीसीसीआई टीवी के साथ बातचीत करते हुए भारतीय गेंदबाजों ने कहा कि वह टीम इंडिया को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब दिलाने के लिए पूरा जोर लगाएंगे। 

 

अश्विन ने बीसीसीआई टीवी के साथ बातचीत करते हुए कहा कि न्यूजीलैंड की टीम इस मुकाबले से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेलने से फायदे में रहेगी लेकिन भारतीय टीम को इस चुनौती से निपटने के लिए परिस्थितियों से तालमेल बैठाना होगा। तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा ने इसकी तुलना एकदिवसीय विश्व कप से करते हुए कहा कि टीम को 110 प्रतिशत देना होगा। अश्विन ने न्यूजीलैंड के इंग्लैंड दौरे पर कहा, 'मुझे उम्मीद है कि एक सुनियोजित और शानदार तैयारी के साथ न्यूजीलैंड टीम हमारे पास आएगी। उन्हें दो टेस्ट खेलने के बाद निश्चित रूप से फायदा हुआ है इसलिए हमें उसके अनुकूल होना होगा।'

स्टुअर्ट ब्रॉड ने हासिल किया खास मुकाम, दिग्गज कर्टनी वॉल्श को छोड़ा पीछे

टीम में 100 टेस्ट मैचों का अनुभव रखने वाले इकलौते खिलाड़ी इशांत ने डब्ल्यूटीसी के लिए पिछले दो साल की यात्रा को भावनात्मक बताते हुए कहा कि कोविड-19 के कारण बदली परिस्थितियों में टीम का यहां पहुंचना शानदार प्रयास का नतीजा है। उन्होंने कहा, 'यह काफी भावनात्मक यात्रा रही है, यह ऐसा आईसीसी टूर्नामेंट है जो 50 ओवर के विश्व कप फाइनल की तरह बड़ा है। विराट ने पहले भी कहा है कि यह एक महीने नहीं बल्कि लगातार दो साल की मेहनत का नतीजा है। कोविड-19 के कारण नियमों में बदलाव के बाद हम दबाव में थे हमें काफी कड़ी मेहनत करनी थी। इंग्लैंड के खिलाफ 3-1 (या 2-0) से जीतना था।'

शमी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे में एडिलेड टेस्ट के बाद टीम ने अनुभवी गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में जैसा प्रदर्शन किया वह काबिल ए तारीफ हैं। उन्होंने कहा, 'अब यह अपना 110 प्रतिशत देने के बारे में है। यह हमारे दो साल की कड़ी मेहनत के बाद आखिरी बार प्रयास करने की तरह है। यह जरूरी है कि हम इसमें दोहरा प्रयास करें।' अश्विन ने कहा कि डब्ल्यूटीसी की अवधारणा से टेस्ट क्रिकेट का महत्व बढ़ा है और वह तटस्थ स्थल पर ज्यादा टेस्ट खेलना चाहेंगे। उन्होंने कहा, 'इतने सालों में हमने कभी तटस्थ स्थल पर टेस्ट नहीं खेला है। दोनों टीमों के लिए परिस्थितियां लगभग एक जैसी होगी।' शमी ने अश्विन के विचारों का समर्थन करते हुए कहा कि इंग्लैंड में मौसम की भूमिका काफी अहम होगी। उन्होंने कहा, 'दोनों टीमें विदेशी सरजमीं पर खेलेगी, यह अच्छा मुकाबला होगा और किसी भी टीम को घरेलू माहौल का फायदा नहीं मिलेगा।'

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर बोले भारतीय गेंदबाज, टीम को खिताब दिलाने के लिए लगाएंगे पूरा दमखम
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें