DA Image
14 अगस्त, 2020|2:00|IST

अगली स्टोरी

ईशांत शर्मा का छलका दर्द, बताया क्यों नहीं मिल रहा वनडे में मौका

लिस्ट ए क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा का औसत भी 50 से अधिक का है, लेकिन उन पर भी टेस्ट विशेषज्ञ का ठप्पा लगा है और इशांत खुद को सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज से जोड़ कर देखते हैं।

ishant sharma  pti

अनुभवी तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा का कहना है कि वनडे टीम में उनकी जगह इसलिए नहीं बन पा रही है, क्योंकि भारतीय क्रिकेट में यह राय बन गई है कि वह टेस्ट मैचों के गेंदबाज है। ईशांत ने करियर में 80 वनडे मैच खेले है, जिसमें आखिरी बार वह वनडे में तीन साल पहले दिखे थे। 30 साल के इस गेंदबाज ने अब तक 90 टेस्ट में देश का प्रतिनिधित्व किया है और उन्हें खुद को टेस्ट विशेषज्ञ पर देखा जाना पसंद नहीं।

आईपीएल टीम दिल्ली कैपिटल्स के मीडिया सत्र के दौरान ईशांत ने कहा, ''हां, मैं मानता हूं कि भारतीय क्रिकेट में ऐसे विचारों के कारण मैं सीमित ओवर की टीम में नहीं हूं। मुझे नहीं पता कि ऐसे विचार कहां से आते हैं।''

बतौर कप्तान और सीनियर धौनी ने मेरी काफी मदद की: ईशांत शर्मा

लिस्ट ए क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा का औसत भी 50 से अधिक का है, लेकिन उन पर भी टेस्ट विशेषज्ञ का ठप्पा लगा है और ईशांत खुद को सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज से जोड़ कर देखते हैं।

दिल्ली के इस तेज गेंदबाज ने कहा, ''ईमानदारी से कहूं तो यह कुछ ऐसा है जिससे खिलाड़ियों को जूझना पड़ रहा है लेकिन मुझे नहीं पता ऐसी राय कहां से बनती है। इससे हम पर ठप्पा लग जाता है, 'यह टेस्ट गेंदबाज है, यह टी-20 गेंदबाज है, 'लाल गेंद का गेंदबाज, 'सफेद गेंद का गेंदबाज और भी बहुत कुछ।''

IPL 2019: ईशांत शर्मा बोले- कोटला मेरे लिए सिर्फ मैदान नहीं बल्कि याद है

टेस्ट मैचों में 267 विकेट लेने वाले इस गेंदबाज ने कहा कि अगर कोई लाल गेंद से अच्छी गेंदबाजी कर सकता है तो वह किसी भी प्रारूप में खेल सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ishant sharma on axing from odi says perceptions have played big role