फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटइरफान पठान ने किया श्रेयस और ईशान का सपोर्ट, हार्दिक पांड्या को लेकर BCCI पर भड़के

इरफान पठान ने किया श्रेयस और ईशान का सपोर्ट, हार्दिक पांड्या को लेकर BCCI पर भड़के

इरफान पठान ने श्रेयस अय्यर और ईशान किशन का सपोर्ट किया है, जबकि हार्दिक पांड्या को लेकर वे BCCI पर भड़क गए, क्योंकि वे भी टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलते हैं और उनको ए ग्रेड में शामिल किया गया है। 

इरफान पठान ने किया श्रेयस और ईशान का सपोर्ट, हार्दिक पांड्या को लेकर BCCI पर भड़के
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 11:43 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट 2023-24 पर सवाल उठाए हैं। श्रेयस अय्यर और ईशान किशन को इसमें शामिल नहीं किया गया है, जबकि दोनों इसके हकदार थे। पठान ने श्रेयस और ईशान का समर्थन किया है और बीसीसीआई के दोहरे रवैये पर सवाल खड़े किए हैं, क्योंकि उन्होंने हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ी को ए ग्रेड में शामिल किया है। वहीं, अय्यर और ईशान किसी भी ग्रेड में शामिल नहीं हैं।  

इरफान पठान ने गुरुवार को एक्स पोस्ट करते हुए लिखा, "श्रेयस और ईशान दोनों ही प्रतिभाशाली क्रिकेटर हैं। उम्मीद है कि वे वापसी करेंगे और मजबूती से वापसी करेंगे। यदि हार्दिक जैसे खिलाड़ी लाल गेंद क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं, तो क्या उन्हें और उनके जैसे अन्य लोगों को नेशनल ड्यूटी पर नहीं होने पर सफेद गेंद वाले घरेलू क्रिकेट में भाग लेना चाहिए? यदि यह सभी पर लागू नहीं होता है, तो भारतीय क्रिकेट मनचाहे परिणाम हासिल नहीं कर पाएगा!"

बीसीसीआई का क्राइटेरिया है कि अगर किसी खिलाड़ी ने एक अक्टूबर के बाद से और सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट जारी होने तक 3 टेस्ट, 8 वनडे या 10 टी20आई मैच खेले हैं तो उनको सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल किया जाता है। ईशान किशन और श्रेयस अय्यर दोनों इसमें फिट बैठते हैं। उनको सालाना अनुबंध की सूची में जगह नहीं मिली, जबकि पांच मैचों के बाद ही वर्ल्ड कप 2023 से बाहर होने वाले हार्दिक पांड्या को ए ग्रेड में शामिल किया गया है। 

धर्मशाला में इस खिलाड़ी को मिलेगी टेस्ट कैप, रजत पाटीदार होंगे बाहर; केएल राहुल हैं अनफिट

हैरान करने वाली बात ये है कि ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को इस वजह से सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में जगह नहीं मिली, क्योंकि दोनों ने रणजी ट्रॉफी को तवज्जो नहीं दी। श्रेयस अय्यर के साथ कुछ ज्यादा ही नाइंसाफी हुई, क्योंकि वे साउथ अफ्रीका के दौरे के बाद रणजी ट्रॉफी खेले थे और फिर टेस्ट टीम का भी हिस्सा थे। इतना ही नहीं, वे सेमीफाइनल खेलने वाले हैं, लेकिन उनके साथ भी वही व्यव्हार चयनकर्ताओं ने किया, जो ईशान के साथ किया। 

यही कारण है कि इरफान पठान ने चयनकर्ताओं पर निशाना साधा है कि अगर हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ी को आप ग्रेड 1 में रखते हो, यहां तक कि वे टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलते, फिर आप ईशान और श्रेयस के साथ ऐसा क्यों कर रहे हैं। जैसे हार्दिक टेस्ट नहीं खेलना चाहते, वैसे ही ईशान भी नहीं खेलना चाहते तो उनके साथ इस तरह का व्यव्हार क्यों हो रहा है। यहां तक कि कुलदीप यादव तीनों फॉर्मेट खेलने के बावजूद बी ग्रेड का हिस्सा हैं।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें