फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटIPL 2024 DC vs RR: संजू सैमसन के विकेट पर इतना विवाद नहीं होता अगर... प्रज्ञान ओझा ने कही एकदम सटीक बात

IPL 2024 DC vs RR: संजू सैमसन के विकेट पर इतना विवाद नहीं होता अगर... प्रज्ञान ओझा ने कही एकदम सटीक बात

प्रज्ञान ओझा का मानना है कि अगर थर्ड अंपायर ने संजू सैमसन को आउट देने के फैसले में थोड़ा समय लगाया होता और इसे अच्छी तरह से देखा होता, तो इस विकेट को लेकर इतनी कॉन्ट्रोवर्सी खड़ी ही नहीं होती।

IPL 2024 DC vs RR: संजू सैमसन के विकेट पर इतना विवाद नहीं होता अगर... प्रज्ञान ओझा ने कही एकदम सटीक बात
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 08 May 2024 12:38 PM
ऐप पर पढ़ें

Indian Premier League 2024 में 7 मई को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेले गए मैच में मेजबान दिल्ली कैपिटल्स ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 20 रनों से जीत दर्ज की। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन जिस तरह से आउट हुए, उसको लेकर काफी ज्यादा विवाद छिड़ गया है। संजू सैमसन ने मुकेश कुमार की गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन शाई होप में बाउंड्री लाइन पर कैच लपका, जिसमें यह साफ नहीं हो पा रहा था कि क्या होप का पैर बाउंड्री लाइन पर छू गया था या नहीं? इस विवाद पर प्रज्ञान ओझा ने अपना पक्ष रखा है, जिसमें उन्होंने बताया है कि किस तरह से इस विवाद से बचा जा सकता था।

सैमसन के विवादित आउट पर संगकारा ने तोड़ी चुप्पी, बोले- क्रिकेट में...

मैच के बाद प्रज्ञान ओझा ने जियो सिनेमा पर कहा, 'हमें यह ध्यान में रखना होगा कि यह एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी का विकेट था और यह भी महसूस करना होगा कि हमारे पास अधिक समय लेने और इसे ठीक से देखने की तकनीक है। मैच इसी पर निर्भर था, क्योंकि जो विकेट गिरा, उसने मैच की गति और दिशा बदल दी। बहस यह रही कि होप का पैर रस्सी को छू गया था या यह उसकी परछाई थी। अगर आपने इसे देखने और इसका विश्लेषण करने के लिए समय निकाला होता, तो शायद उन्हें अधिक स्पष्टता मिल जाती। यहां तक ​​कि संजू को भी पता था कि वह जो सवाल पूछ रहा था, उसके आधार पर मैच खतरे में था। अगर वह खेलता रहता, तो शायद उसकी टीम के नाम के आगे क्यू लगा होता।'

सैमसन के कॉन्ट्रोवर्शियल OUT फैसले पर सिद्धु को गुस्सा क्यों आया?

शानदार अर्धशतक लगाने वाले अभिषेक पोरेल के बारे में ओझा ने कहा, 'शुरुआत में वह जेक फेजर मैकगर्क की परछाई में खेल रहा था, लेकिन उसके आउट होने के बाद, हमें पता चला कि पोरेल कितना अच्छा खेल रहा है। जिस तरह से वह गेंद को उठा रहा था, जिस तरह के शॉट खेल रहा था और जिस तरह की स्पष्टता दिखा रहा था, वह देखना अच्छा था। उस पर उनका जो भरोसा है, उन्होंने उसे ओपनर के तौर पर पृथ्वी शॉ के साथ खेलने के लिए कहा। उन्होंने उसे मौका दिया और उसने उसे भुनाया। यह सनसनीखेज था। इसकी सबसे अच्छी बात उसकी बल्लेबाजी में स्पष्टता थी। गेंद को कहां मारना है, फील्ड प्लेसमेंट और जिस तरह से वह सब कुछ पढ़ रहा था, उसे देखना शानदार था।'