DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  IPL 2021: गौतम गंभीर ने समझाया क्यों फेल होने के बावजूद करोड़ों में बिकते हैं ग्लेन मैक्सवेल

क्रिकेटIPL 2021: गौतम गंभीर ने समझाया क्यों फेल होने के बावजूद करोड़ों में बिकते हैं ग्लेन मैक्सवेल

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Wed, 07 Apr 2021 09:58 AM
IPL 2021: गौतम गंभीर ने समझाया क्यों फेल होने के बावजूद करोड़ों में बिकते हैं ग्लेन मैक्सवेल

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें सीजन के लिए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने ग्लेन मैक्सवेल पर करोड़ रुपये खर्चे हैं। इस साल के आईपीएल के लिए हुए ऑक्शन में मैक्सवेल 14.25 करोड़ रुपये में बिके, वह भी तक जबकि उनका पिछला सीजन काफी खराब रहा था। पिछले सीजन में मैक्सवेल किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) की ओर से खेले थे और अपनी बल्लेबाजी से बहुत निराश किया था। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने समझाया है कि क्यों मैक्सवेल खराब प्रदर्शन के बावजूद ऑक्शन में करोड़ों रुपये में बिकते हैं। 

क्या प्लेइंग XI में मिलेगी स्मिथ को जगह? जानें हेड कोच पोंटिंग का जवाब

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए गंभीर ने कहा, 'क्या मैक्सवेल ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया है? सच कहूं तो वह आईपीएल में इतनी फ्रेंचाइजी टीमों के लिए नहीं खेल पाते। उन्होंने इतनी फ्रेंचाइजी टीमों के लिए मैच खेले हैं, क्योंकि वह कंसिस्टेंट नहीं रहे हैं। हम इस बारे में बार-बार बात नहीं कर सकते कि पिछली फ्रेंचाइजी टीम में उनको फ्रीडम नहीं मिली है। जब वह दिल्ली के लिए खेले, तो उन्हें काफी फ्रीडम मिली थी। ज्यादातर फ्रेंचाइजी टीम और उनके कोच मैक्सवेल को इसलिए चुनते हैं क्योंकि उन्हें उसमें एक्स फैक्टर नजर आता है।'

आकाश चोपड़ा ने बताया, IPL में कौन सी टीम मुंबई इंडियंस को देगी टक्कर

गंभीर ने आगे कहा, 'फ्रेंचाइजी टीमें चाहती हैं कि मैक्सवेल को ऐसा प्लैटफॉर्म मिले, जिस पर वह सफल हो सकें, लेकिन बावजूद इसके ऐसा हुआ नहीं है। 2014 का सीजन छोड़ दें तो मैक्सवेल का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। अगर उन्होंने वैसा प्रदर्शन आगे किया होता, तो कोई फ्रेंचाइजी टीम उन्हें रिलीज नहीं करती। आप आंद्रे रसेल को देखिए, उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए क्या किया और कब से उस फ्रेंचाइजी टीम का हिस्सा बने हुए हैं। फ्रेंचाइजी टीम आपको सिर्फ इसलिए रिलीज करती हैं क्योंकि आपने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। जितनी ज्यादा फ्रेंचाइजी टीमों के लिए आप खेलते हैं, इसका मतलब है कि आप कंसिस्टेंट नहीं हैं। उन्हें ज्यादा पैसे मिलते रहते हैं क्योंकि उनका ऑस्ट्रेलिया की ओर से प्रदर्शन शानदार रहा है। तो मुझे लगता है कि आरसीबी का प्वॉइंट ऑफ व्यू है कि वह इस साल अच्छा प्रदर्शन करेंगे।'

संबंधित खबरें