DA Image
15 सितम्बर, 2020|11:40|IST

अगली स्टोरी

आईपीएल में खिलाड़ियों की मानसिक फिटनेस बनाए रखना अहम: अनिल कुंबले

file photo of anil kumble  getty images

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के कोच अनिल कुंबले ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां सत्र शुरू होने से पहले खिलाड़ियों की शारीरिक फिटनेस के अलावा मानसिक फिटनेस  बनाए रखना अहम है। कुंबले ने कहा, “हर खिलाड़ी के लिए फॉर्म में वापसी करना चुनौतीपूर्ण होगा, क्योंकि यह एक लंबा टूर्नामेंट होने वाला है। आईपीएल के अपने उतार-चढ़ाव हैं, जिससे सभी टीमों को गुजरना पड़ता है। ऐसे में आपको परिणाम की चिंता छोड़ शांत बने रहना होगा क्योंकि अगर नतीजा अच्छा आया तो हम उस पर प्रतिक्रिया देते हैं और अगर मन मुताबिक नहीं आया तो हम अधिक सोचने लगते हैं।”

आईपीएल की फ्रैंचाइजी टीम किंग्स इलेवन पंजाब के कोच अनिल कुंबले के मार्गदर्शन में टीम के कप्तान लोकेश राहुल सहित बाकी क्रिकेटरों ने अभ्यास शुरू कर दिया है। आईपीएल के 13वें संस्करण का आयोजन 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में होगा और टीमें 20 अगस्त से यूएई के लिए रवाना होंगी। 

ODI में 10,000+ रन और 50+ औसत, सचिन और पोंटिंग से ऐसे आगे रहे धोनी

उन्होंने कहा, “इस टूर्नामेंट में संतुलन बनाए रखना जरूरी होगा। इतने वषोर्ं के अनुभव के बाद मुझे उम्मीद है कि मैं उस संतुलन को लेकर सामंजस्य बैठा लूंगा। आईपीएल खेल रहे खिलाड़ियों के लिए यह हमेशा आसान नहीं होता। उन्हें केवल अगले महीने के बजाय केवल अगले मैच पर ध्यान लगाना होगा।”

भारत के पूर्व लेग स्पिनर कुंबले ने कहा, “खिलाड़ियों और टीम के सहायक कर्मचारियों का स्वास्थ्य और सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण होगी। ऐसे में हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हर कोई सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करे। इस तरह के सुरक्षा कवच में रहना उतना आसान नही हैं। उन्हें इसके लिए प्रेरित करना होगा ताकि एक खुशनुमा माहौल बन सके। यह क्रिकेट से इतर जीवन और खिलाड़ियों के मानसिक स्तर को नियंत्रित करने के बारे में है क्योंकि एक बार मैदान पर उतरने के बाद यह स्वाभाविक रूप से उनके पास आता है।”

धोनी-रैना से पहले इन दिग्गज क्रिकेटरों ने भी बिना फेयरवेल मैच खेले लिया संन्यास

कुंबले ने कहा कि लगभग सभी खिलाड़ी चार-पांच महीने के विश्राम के बाद आईपीएल में खेलने उतरेंगे और ऐसे में शारीरिक के अलावा खिलाड़ियों की मानसिक फिटनेस भी अहम होगी। उन्होंने इस संदर्भ में कहा, “सबसे महत्वपूर्ण पहलू जिस पर ध्यान देने की जरूरत है वह बेचैनी है। हर कोई बेचैन होगा। वह बाहर जाकर खेलना चाहते हैं। उन्हें थोड़ा रोकना होगा, क्योंकि खिलाड़ियों को बिना मैच खेले चार महीने हो गए हैं और ऐसे में वे बाहर जाकर एक दिन में अपना 100 फीसदी नहीं दे सकते। खिलाड़ियों के लिए मैच के लिए तैयार होना कठिन होगा।”

टेस्ट की एक पारी में पूरे दस विकेट लेने वाले इतिहास के दूसरे गेंदबाज कुंबले ने कहा, “हम खिलाड़ियों को धीरे-धीरे तैयार करेंगे। हम कुछ अभ्यास मैच खेलेंगे, जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा। मेरे हिसाब से बात आत्मविश्वास बढ़ाने की है।  दरअसल, हमारे पास अनुभवी लोग हैं और फिजियो एंड्रयू लीपस और कंडीशनिंग कोच एड्रियन ले रूक्स के रूप में ऐसे प्रशिक्षक हैं जो किसी भी स्थिति को संभाल सकते हैं।”

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:IPL 2020 We have to keep the players in a happy space says Anil Kumble