DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  IPL 2020 CSK vs RR: CSK की एक और हार, धोनी ने बताया क्यों नहीं दिए युवाओं को ज्यादा मौके

क्रिकेटIPL 2020 CSK vs RR: CSK की एक और हार, धोनी ने बताया क्यों नहीं दिए युवाओं को ज्यादा मौके

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Tue, 20 Oct 2020 08:16 AM
IPL 2020 CSK vs RR: CSK की एक और हार, धोनी ने बताया क्यों नहीं दिए युवाओं को ज्यादा मौके

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के 13वें सीजन (IPL 2020) में चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings, CSK) को राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals, RR) के खिलाफ सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद सीएसके का इस साल प्लेऑफ तक पहुंचने लगभग नामुमकिन सा नजर आने लगा है। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने मैच के बाद बताया कि अब आगे के मैचों में युवा क्रिकेटरों को मौका मिल सकता है और उन पर किसी तरह का दबाव भी नहीं होगा। इसके अलावा धोनी ने बताया कि क्यों सीएसके में टीम में ज्यादा बदलाब नहीं किया जाता है।

एमएस धोनी ने खेला IPL का 200वां मैच, सुरेश रैना ने इस तरह दी बधाई

'दूसरी पारी में विकेट थोड़ा बेहतर हो गया था'

विकेट में तेज गेंदबाजों के लिए कुछ मदद थी, रविंद्र जडेजा को मैं लेकर इसलिए आया था क्योंकि मैं देखना चाह रहा था कि वह कितना रनों की रफ्तार को रोक पा रहे हैं, लेकिन पहली पारी जैसा ऐसा कुछ हुआ नहीं। इसके बाद ऑप्शन था कि हम तेज गेंदबाजों के साथ जाएं और फिर स्पिनर्स को तब लेकर आएं, जब गेंद पुरानी हो चुकी हो। मुझे लगता है कि दूसरी पारी में विकेट थोड़ा बेहतर हो गया था क्योंकि हमारे स्पिनरों को पहली पारी जितनी मदद नहीं मिली। हमेशा चीजें आपके पक्ष में नहीं जा सकती हैं। यही वजह है कि हम प्रोसेस में वापस जाने की बात करते हैं और देखेंगे कि प्रोसेस गलत है या फिर हम इसको सही से लागू नहीं कर पा रहे हैं।

'छुपाने जैसा कुछ है नहीं'

धोनी ने कहा, 'नतीजे हमेशा से प्रोसेस के बायप्रोडक्ट होते हैं। यह मदद करता है कि आप पॉजिटिव सोचें। हम लाखों लोगों के सामने खेले हैं, तो छुपाने जैसा कुछ है नहीं। फैक्ट यही है कि अगर आप प्रोसेस में व्यस्त रहते हैं तो रिजल्ट का प्रेशर ड्रेसिंग रूम तक नहीं आता है। हमने कुछ चीजें ट्राइ कीं, एक चीज है जो आप नहीं करना चाहते हैं, आप बहुत ज्यादा बदलाव नहीं करना चाहते हैं क्योंकि फिर क्या होता है कि तीन-चार-पांच मैचों के बाद आप किसी भी बात को लेकर निश्चिंत नहीं होते हो। आप लोगों को पूरे मौके देना चाहते हैं, अगर वह अच्छा नहीं कर पा रहे हैं, तब आप किसी और को मौका देंगे। इनसिक्योरिटी (अस्थिरता) ऐसी चीज है, जो आप ड्रेसिंग रूम से दूर रखना चाहते हैं।'

धोनी से तुलना कर फैन ने कहा 'थाला', तो राहुल के जवाब ने जीता सबका दिल

'अब आगे के मैचों में युवाओं को मौका मिलेगा'

उन्होंने आगे कहा, 'यह सही बात है कि इस सीजन में हम कुछ खास नहीं कर सके। युवा क्रिकेटरों को भी कुछ मौके मिले, हो सकता है हमें उनमें वो स्पार्क नहीं दिखा, जो वह हमें दिखा सकते थे। इस रिजल्ट के बाद हम युवा क्रिकेटरों को मौका देंगे, उनके ऊपर कोई एक्स्ट्रा प्रेशर नहीं होगा, जिससे वह मैदान पर जाएं और खुलकर खेल सकें। जिससे हमें यह विकल्प मिले कि हम और विकल्प देख सकें।' सीएसके ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। 20 ओवर में सीएसके की टीम पांच विकेट पर 125 रन ही बना सकी। जवाब में राजस्थान रॉयल्स ने 17.3 ओवर में तीन विकेट गंवाकर 126 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया।

संबंधित खबरें