फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेट... तो इस वजह से IPL 2019 चैंपियन बन पाया मुंबई इंडियंस

... तो इस वजह से IPL 2019 चैंपियन बन पाया मुंबई इंडियंस

Indian Premier League 2019 final MI vs CSK:  एक पुरानी कहावत है, विजेता कोई भी अलग काम नहीं करते हैं, वह वह काम को अलग तरीके से करते हैं। साफ तौर पर मुंबई इंडियंस के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)...

... तो इस वजह से IPL 2019 चैंपियन बन पाया मुंबई इंडियंस
Mridulaएजेंसी,नई दिल्लीTue, 14 May 2019 02:20 PM
ऐप पर पढ़ें

Indian Premier League 2019 final MI vs CSK:  एक पुरानी कहावत है, विजेता कोई भी अलग काम नहीं करते हैं, वह वह काम को अलग तरीके से करते हैं। साफ तौर पर मुंबई इंडियंस के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के चौथे खिताब जीतने का मंत्र यही रहा। मुंबई ने राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए आईपीएल के फाइनल (IPL 2019) में चेन्नई सुपर किंग्स को आखिरी गेंद तक खिंचे मुकाबले में एक रन से हरा चौथी बार आईपीएल का खिताब जीता।

आईएएनएस से पास मौजूद जानकारी के मुताबिक, मुंबई के प्रबंधन ने फाइनल से पहले अपनी टीम के खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए ड्रेसिंग रूम में मोटीवेशनल वाक्यों के पोस्टर लगवाए। सिर्फ इतना ही नहीं, दोस्तों और परिवार के सदस्यों ने भी खिलाड़ियों को प्रेरित करने वाले संदेश भेजे। 

IPL 2019, Final: बॉलीवुड एक्टर का छलका दर्द, कहा- हमने युवराज सिंह को बर्बाद कर दिया

सूत्र के मुताबिक, “यहां वहां 'मुझे विश्वास है' संदेश के पोस्टर ड्रेसिंग रूम में थे। यह सब फाइनल से पहले खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए किया गया था। आईपीएल जैसे प्रारूप में दिन-रात खेलने से खिलाड़ी थक जाता है और ऐसे में इस तरह के संदेश तथा वाक्य उन्हें प्रेरित करते हैं।”

सूत्र ने कहा, “खिलाड़ियों के दोस्तों और परिवार वालों ने भी वीडियोज के माध्यम से संदेश खिलाड़ियों को भेजे। इस तरह की चीजें आपके आगे के लिए प्रेरित करती हैं और इसका परिणाम हमारे सामने है।”

रोचक बात यह है कि वेस्टइंडीज के चोटिल तेज गेंदबाज अल्जारी जोसेफ जिन्हें बीच में ही सीजन छोड़ कर जाना पड़ा था वह खासकर फाइनल के लिए भारत आए, क्योंकि टीम प्रबंधन चाहता था कि यह युवा इस फाइनल के पल का हिस्सा बने। टीम के सीनियर खिलाड़ी युवराज सिंह ने भी इसके लिए अल्जारी को धन्यवाद दिया। सूत्र ने कहा, “युवी पाजी ने अल्जारी के पास जाकर उनसे बात की और हैदराबाद आने के लिए  उन्हें शुक्रिया कहा। यही वह मैदान है जहां उन्होंने इसी सीजन में 12 रन देकर छह विकेट लिए थे।”

सर्वश्रेष्ठ चीज हालांकि टीम के मुख्य कोच महेला जयावर्धने ने मैच के बाद के लिए बचा कर रखी थी। जीतने के बाद ड्रेसिंग रूम में महेला ने कहा कि मैच को आखिरी गेंद तक ले जाकर कोचिंग स्टाफ को हर्ट अटैक नहीं दिया करो। महेला ने कहा, “हम जल्दी मरना नहीं चाहते। ऐसा दोबारा मत करना क्योंकि हमारे लिए इस तरह के करीबी मामले देखना बहुत मुश्किल होता है। अच्छा होगा कि अगली बार आप जल्दी और अच्छे से मैच खत्म करें।”

epaper