फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटINDW vs SAW: आखिरी ओवर में हारते-हारते कैसे जीत गई भारतीय टीम? डेब्यूटेंट अरुंधति रेड्डी ने खोला राज

INDW vs SAW: आखिरी ओवर में हारते-हारते कैसे जीत गई भारतीय टीम? डेब्यूटेंट अरुंधति रेड्डी ने खोला राज

Arundhati Reddy on INDW vs SAW 2nd ODI Last Over: भारतीय टीम दूसरे वनडे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ हार की कगार पर पहुंच गई थी लेकिन आखिरी ओवर में बाजी पलट गई। अरुंधति रेड्डी ने इसका राज खोला है।

INDW vs SAW: आखिरी ओवर में हारते-हारते कैसे जीत गई भारतीय टीम? डेब्यूटेंट अरुंधति रेड्डी ने खोला राज
Md.akram एजेंसी,बेंगलुरुWed, 19 Jun 2024 11:18 PM
ऐप पर पढ़ें

डेब्यूटेंट तेज गेंदबाज अरुंधति रेड्डी ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बुधवार को दूसरे वनडे में पूजा वस्त्राकर के अंतिम ओवर में धीमी गेंद फेंकने की योजना थी, जिससे भारत ने चार रन से जीत हासिल की। वस्त्राकर ने नादिन डी क्लर्क का महत्वपूर्ण विकेट लिया और अंतिम ओवर में 11 रन का बचाव किया। भारत ने बेंगलुरु के मैदान पर 325/3 का स्कोर बनाया था। भारत ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की।

अरुंधति ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ''इस अंतिम ओवर में जो बातचीत हुई और योजना बनी। मुझे लगता है कि पूजा के पहली तीन गेंदें फेंकने के बाद उन्हें धीमी गेंद डालने का संदेश मिला। वह इसी पर अडिग रही और इसी तरह उसे विकेट मिला।'' अरुंधति ने खुद 19वां ओवर बेहतरीन फेंका और डी क्लार्क द्वारा छक्का लगाए जाने के बावजूद केवल 12 रन दिए। अरुंधति ने कहा कि वह उस ओवर के लिए मानसिक रूप से तैयार थीं।

उन्होंने कहा, ''अंत के इस ओवर में मैं इसके लिए तैयार थी और मुझे मुश्किल ओवर गेंदबाजी करना पसंद है।'' दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाज मारिजेन कप्प ने कहा, ''हम यहां पहले भी खेल चुके हैं और यहां के अच्छे विकेट को देखकर हर कोई यहां लक्ष्य का पीछा करना चाहता है। जब मैं उतरी तो मैंने सोचा कि कोशिश करते हैं और गहराई तक बल्लेबाजी करते हैं। हमारा लक्ष्य साझेदारी बनाकर इसे अंत तक ले जाना था।''

स्मृति मंधाना (136)  और कप्तान हरमनप्रीत कौर (नाबाद 103) के शतक के दम पर भारत ने दूसरे मैच विशाल स्कोर खड़ा किया था। दोनों के बीच तीसरे विकेट की 171 रन की साझेदारी हुई। 326 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका के लिए कप्तान लॉरा वोलवार्ट (नाबाद 135) और कप्प (114) ने शतक जमाया। दोनों ने चौथे विकेट की 184 रन की साझेदारी की लेकिन साउथ अफ्रीका टीम 50 ओवर में 6 विकेट पर 321 रन ही बना सकी।