फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटINDW vs ENGW: अब ऐसी होगी नई टीम इंडिया, हेड कोच मजूमदार ने खींचा खाका, बोले- टी20 वर्ल्ड कप की तरफ...

INDW vs ENGW: अब ऐसी होगी नई टीम इंडिया, हेड कोच मजूमदार ने खींचा खाका, बोले- टी20 वर्ल्ड कप की तरफ...

हेड कोच अमूल मजूमदार ने नई भारतीय महिला क्रिकेट टीम का खाका खींचा है। उन्होंने खिलाड़ियों को बेखौफ क्रिकेट खेलने की सलाह दी है। भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से 3 मैचों की टी20 सीरीज शुरू हो रही है।

INDW vs ENGW: अब ऐसी होगी नई टीम इंडिया, हेड कोच मजूमदार ने खींचा खाका, बोले- टी20 वर्ल्ड कप की तरफ...
Md.akram भाषा,मुंबईTue, 05 Dec 2023 09:02 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नवनियुक्त मुख्य कोच अमूल मजूमदार चाहते हैं कि उनके खिलाड़ी बेखौफ क्रिकेट खेलें। इसके साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि फिटनेस और क्षेत्ररक्षण को लेकर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। मजूमदार ने इंग्लैंड के खिलाफ बुधवार से शुरू होने वाली तीन मैच की टी20 सीरीज की पूर्व संध्या पर कहा, ''हमें एक विशेष तरह का क्रिकेट खेलने की जरूरत है जैसा कि अभी तक हम खेलते रहे हैं। मैं हमेशा से बेखौफ क्रिकेट खेलने की वकालत करता रहा हूं। हमें इसी तरह की क्रिकेट खेलनी चाहिए।''

उन्होंने कहा, ''शैफाली (वर्मा) और जेमिमा (रोड्रिग्स) दोनों ही भारतीय टीम की महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। मैं चाहूंगा कि वह पहले की तरह ही आक्रामक क्रिकेट खेलती रहें।'' अगले साल सितंबर-अक्टूबर में बांग्लादेश में होने वाले टी20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए मजूमदार ने कहा कि अब उनकी टीम के लिए प्रत्येक कदम बेहद महत्वपूर्ण होगा। उन्होंने कहा, ''हम विश्व कप की तरफ बढ़ रहे हैं। प्रत्येक सीरीज और मैच का अपना महत्व होता है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली सीरीज का अपना विशेष महत्व है।''

मजूमदार इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज से महिला क्रिकेट टीम के साथ अपने कार्यकाल की शुरुआत करेंगे। उन्होंने कहा, ''इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से विश्व कप की तैयारी शुरू करना शानदार होगा। यह दोनों सीरीज बेहद कड़ी होंगी जिससे हमें खुद को परखने का मौका मिलेगा। आगे बढ़ने के लिए मुश्किल टीमों का सामना करना महत्वपूर्ण होता है।''

इंग्लैंड के बाद भारतीय टीम घरेलू सीरीज में ऑस्ट्रेलिया का सामना करेगी। मजूमदार ने कहा, ''फिटनेस और क्षेत्ररक्षण को सबसे अधिक प्राथमिकता दी जाएगी। क्षेत्ररक्षण या फिटनेस से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। इन सीरीज के बाद कई शिविर आयोजित किए जाएंगे और काफी क्रिकेट खेली जाएगी। इसके अलावा राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी तो है ही। इसका मतलब है अधिक से अधिक मैच खेलना। इसके अलावा नए खिलाड़ियों को भी मौका दिया जाएगा।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें