Indian All Rounder Hardik Pandya is a very good human being read this story and you will become admirer of Him - ENGvsIND: जब हार्दिक पंड्या ने विराट कोहली की तरह अपने कोच को चौंकाया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ENGvsIND: जब हार्दिक पंड्या ने विराट कोहली की तरह अपने कोच को चौंकाया

हार्दिक और बड़े भाई क्रुणाल ने भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे की अकादमी में प्रशिक्षण लिया था। किरण मोरे ने दोनों बच्चों से कोचिंग शुल्क भी नहीं लिया था।      

Hardik Pandya

शरीर पर टैटू और आलोचकों के प्रति बेपरवाही कुछ ऐसी चीजें हैं जो विराट कोहली और हार्दिक पंड्या के व्यक्तित्व में समान हैं। हार्दिक पंड्या की एक चीज जो विराट कोहली से अलग है वह है उनके कानों में डायमंड स्टड्स। लेकिन इनके अलावा दोनों में एक समानता और है जो उनके बचपन के कोच के साथ उनका जुड़ाव है। कुछ साल पहले विराट कोहली ने अपने बचपन के कोच राजकुमार शर्मा के घर अपने बड़े भाई विकास को भेजकर एक चमचमाती होंडा सिटी कार की चाभी सौंपी थी। इसके बाद विकास ने विराट की कोच राजकुमार शर्मा से बात करायी और उन्होंने अपने बचपन के कोच को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं दीं। तब विराट से इस तरह का स्नेह पाकर कोच राजकुमार काफी भावुक हो गए थे।
     
हार्दिक पंड्या ने अपने बचपन के कोच को भेंट की थी कार    
इसी तरह हार्दिक पंड्या भी साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के अपने पहले दौरे से लौटने के बाद अपनी अकादमी गए। अकादमी में वह अपने कोच जितेंद्र सिंह से मिले और उन्हें सीधा कार के एक शोरूम ले गए और उन्हें एक नई कार भेंट की। जितेंद्र ने उस दिन को याद करते हुए कहा, 'हार्दिक ऑस्ट्रेलिया के दौरे के बाद मुझसे मिलने आया था। उसे तब पहली बार भारतीय टीम में लिया गया था। वह मुझे कार के एक शोरूम ले गया, जहां उसने और क्रुणाल (हार्दिक के बड़े भाई) ने मुझे एक कार भेंट की।' बचपन में नटखट स्वभाव के रहे हार्दिक और बड़े भाई क्रुणाल ने भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे की अकादमी में प्रशिक्षण लिया था। किरण मोरे ने दोनों बच्चों से कोचिंग शुल्क भी नहीं लिया था।'
     
जानिए कैसे स्पिनर से तेज गेंदबाज बन गए हार्दिक पंड्या    
कोच जितेंद्र ने पुरानी यादें ताजा करते हुए कहा, 'एक बार अंडर-19 के एक मैच में हमारी टीम में केवल एक ही तेज गेंदबाज था क्योंकि बाकी सभी बड़ौदा के लिए रणजी और अंडर-23 टूर्नामेंट में खेल रहे थे। हार्दिक लेग स्पिनर था। मैंने हार्दिक से नयी गेंद से चमक खत्म करने के लिए लक्ष्य बनाकर गेंद डालने को कहा और हार्दिक ने एक पारी में पांच विकेट लिए। वह दूसरे छोर से गेंदबाजी कर रहे तेज गेंदबाज से भी ज्यादा असरदार साबित हुआ। सनत कुमार सर ने भी उस दौरान हर्दिक को देखा और उसे तेज गेंदबाजी ही करने की सलाह दी। उसी सत्र में हार्दिक को बड़ौदा के लिए टी-20 में खेलने का मौका मिला जहां उसने शानदार प्रदर्शन किया और फिर कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा।'

India vs England 3rd Test DAY 2: हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत के कायल हुए सचिन तेंदुलकर, कही ये बड़ी बात

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian All Rounder Hardik Pandya is a very good human being read this story and you will become admirer of Him