DA Image
24 जनवरी, 2020|2:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

INDvsWI: विराट ने युवाओं से कहा- पहले हिस्से की बल्लेबाजी ना देखें, जानें क्यों

virat kohli

India vs West Indies, 1st T20I at Hyderabad: राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले टी-20 में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 94 रन बनाए। उनकी इस पारी के दो हिस्से रहे। पहले हिस्से में कोहली संघर्ष करते दिखे और सिर्फ 20 गेंदों पर 20 रन ही बना पाए, लेकिन इसके बाद मौजूदा समय के महान बल्लेबाजों में शुमार कोहली ने अगली 30 गेंदों पर 74 रन बटोरे और विंडीज गेंदबाजों को सीमारेखा के पार भेजते रहे। कोहली ने मैच के बाद कहा था कि युवा इस मैच में उनकी पहले हिस्से की बल्लेबाजी न देखें, क्योंकि इसमें कई खामियां थीं। वहीं, कोहली ने साथ ही कहा है कि वह एक प्रारूप का विशेषज्ञ नहीं बनना चाहते।
 
उन्होंने कहा, “मैं अपने खेल में ज्यादा बदलाव नहीं करना चाहता क्योंकि मैं तीनों प्रारूपों में खेलता हूं, मैं तीनों प्रारूपों में रन करना चाहता हूं। मैं किसी एक प्रारूप का विशेषज्ञ बल्लेबाज नहीं बनना चाहता। जब आप बड़े लक्ष्य का पीछा कर रहे होते हो तो आपके सामने कई तरह की ध्यान भटकाने वाली चीजें आती हैं। लेकिन कुछ खाली गेंदों के बाद, खेल आपको उस स्थिति में ला देते है जहां आप अपने खेल को बनाए रखते हुए अपने शॉट्स लगा सकते हैं।”

विराट कोहली ने अपनी नाबाद पारी में 50 गेंदों का सामना किया था और छह चौके और छह छक्के मारे थे। उन्होंने सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (62) के साथ दूसरे विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी निभाई।

INDvsWI, 1st T20: किंग कोहली ने टी-20 में 'हिटमैन' रोहित शर्मा को छोड़ा पीछे 

विराट कोहली का खुलासा, आखिर क्यों उतारी वेस्टइंडीज के गेंदबाज की नकल

साथ ही विराट ने कहा कि वह ऐसे खिलाड़ी नहीं हैं, जो भीड़ का मनोरंजन करने के लिए हवा में शॉट खेलते हैं बल्कि अपना काम करना चाहते हैं और देश के लिए मैच जीतना चाहते हैं। वेस्ट इंडीज के साथ पहले टी-20 अंतराष्ट्रीय मैच में कोहली ने कॅरियर के सर्वश्रेष्ठ 94 नाबाद रन बनाए, जिसकी बदौलत भारत ने छह विकेट से जीत दर्ज की। मैच के बाद कोहली ने कहा कि वह छोटे प्रारूप में भी जल्दबाजी में क्रिकेट नहीं खेलना चाहते।

कोहली ने कहा, ''जब भी मैं टी-20 क्रिकेट खेलता हूं तो ऐसे नहीं खेलता कि भीड़ का मनोरंजन करने के लिए हवा में गेंद खेलूं। मैं अपना काम करने पर ध्यान केंद्रित रखता हूं। टीम के रूप में हमारी मजबूती पारी के बीच में तेजी से खेलना है।'' उन्होंने कहा, ''मैं अपना खेल नहीं बदलना चाहता क्योंकि मैं तीनों प्रारूप में खेलता हूं। मैं तीनों प्रारूपों में योगदान करना चाहता हूं । मैं प्रारूप विशेषज्ञ नहीं बनना चाहता।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:india vs west indies virat kohli says to youngsters not to see my 1st part batting in hyderabad t20i match