INDvsSA, 1st Test: रोहित-मयंक ने बताया दूसरे दिन का प्लान- VIDEO

India vs South Africa, 1st Test: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच विशाखापट्टनम में खेला जा रहा है। पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारत बिना किसी नुकसान के 202 रन बनाकर खेल रहा था। रोहित शर्मा 115 और मयंक अग्रवाल 84 रन के निजी स्कोर पर खेल रहे हैं। बारिश की वजह से पहले दिन का खेल वक्त से पहले खत्म करना पडा़। अब दूसरे दिन के खेल को लेकर रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने आगे की रणनीति का खुलासा किया।

बीसीसीआई ने रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल का एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में रोहित और मयंक दूसरे दिन के खेल की रणनीति के बारे में बात कर रहे हैं। रोहित और मयंक दोनों का ही कहना है कि दूसरे दिन वह ज्यादा देर तक बल्लेबाजी कर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बड़ा स्कोर बनाने की कोशिश करेंगे ताकि विरोधी टीम पर दबाव बनाया जा सके।

इसके अलावा रोहित शर्मा ने बतौर ओपनर इस टेस्ट में बल्लेबाजी की और शानदार शतक जड़ा। उन्होंने कहा कि इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा है और वह ओपनिंग करते खुश हैं। पहले दिन की बल्लेबाजी पर रोहित ने कहा, “हमने दोनों स्पिनरों को देखा और महसूस किया कि गेंद ज्यादा टर्न नहीं कर रही है और न ही विकेट में ज्याद उछाल है तो हमने अपने कदमों का इस्तेमाल किया। हम गेंद के पास जाकर उसे मारना चाहते थे। मैंने फिर अपना खेल खेला। आपने आज जो देखा वह मेरा खेल है। मैं ऐसे ही खेलता हूं। मैं अपने खेल पर टिका रहा। मैं और मयंक ओवरों के बीच में यही बात कर रहे थे कि हम किस तरह गैप निकालें और स्ट्राइक रोटेट करें, क्योंकि इस तरह की धीमी पिच पर स्ट्राइक रोटेट करना जरूरी है, ताकि गेंदबाज अपनी लय हासिल न कर पाए।”

रोहित ने कहा कि उनके खेलने का तरीका सलामी बबाजी के अनुरुप है और वह इस जिम्मेदारी के लिए मानसिक रूप से तैयार थे।  रोहित की नाबाद शतकीय पारी और मयंक अग्रवाल के साथ पहले विकेट के लिए 202 रन की अटूट साझेदारी के दम पर बारिश के कारण पहले दिन का खेल रोके जाने तक भारत ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली।

रोहित से जब इस टूर्नामेंट के लिए मानसिक तैयारी के बारे में पूछा गया तो वनडे टीम के इस उपकप्तान ने कहा, '' इस (उनके पारी के आगाज करने के) बारे में लंबे समय से विचार हो रहा था। वेस्टइंडीज दौरे पर उन्होंने मुझे साफ तौर पर कहा था कि ऐसा होने वाला है। मैं पिछले दो वर्षों से इसके लिए तैयार था। मुझे इस बात का अहसास था कि मैं पारी का आगाज कर सकता हूं और मैं इसके लिए तैयार था।''

बता दें कि रोहित वेस्टइंडीज दौरे पर भारतीय टीम का हिस्सा थे लेकिन मध्यक्रम में अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी के शानदार लय में होने से वह अंतिम 11 में जगह नहीं बना पाये। टेस्ट क्रिकेट में चौथा शतक लगाने वाले इस बल्लेबाज ने कहा, ''जाहिर है टेस्ट मैच में पारी का आगाज करना पूरी तरह से भिन्न होता है। आपको इसके लिए नई गेंद का सामना करने के लिए मानसिक रूप से ज्यादा तैयारी करनी होती है और खेल को आगे ले जाना होता है।''

(एजेंसी इनपुट के साथ)

READ SOURCE