DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

INDvENG: जब स्पिन के 'मास्टर' भारतीय बल्लेबाजों ने स्पिनरों के आगे टेके घुटने

virat kohli pic credit-hindustan times

भारत को इंग्लैंड के खिलाफ साउथैम्पटन टेस्ट में 60 रनों की हार का सामना करना पड़ा। भारत के कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के बीच चौथे विकेट के लिए हुई शतकीय साझेदारी के बावजूद भारत यह मैच हार गया। भारत के लिए कप्तान विराट कोहली ने एक बार फिर पारी में सबसे ज्यादा 58 रन बनाए। इंग्लैंड के स्पिन ऑलराउंडर मोइन अली ने चार विकेट लिए। उन्होंने पूरे मैच में 9 विकेट लिए।

पूरे विश्व में स्पिन खेलने में माहिर मानी जाने वाली भारतीय टीम ने एक बार फिर स्पिनर के आगे घुटने टेक दिए। ऐसा पहली बार नहीं है जब भारतीय टीम ने स्पिनर के आगे घुटने टेके है।

आइए नजर डालते हैं उन मौकों पर जब भारतीय टीम एक स्पिनर के आगे असहाय नजर आई और उसका खामियाजा टीम को हार के रूप में भुगतना पड़ा। 

-जनवरी 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम ने मेजबान टीम के कामचलाऊ स्पिनर एंड्रयू साइमंड्स और माइकल क्लार्क के खिलाफ तीन-तीन विकेट लेकर भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी थी। भारत को इस मैच में 122 रनों की हार झेलनी पड़ी थी।

-भारतीय टीम को इसी साल श्रीलंकाई दौरे पर भारतीय टीम को स्पिनरों के खिलाफ अच्छा-खासा संघर्ष करना पड़ा। जहां तीन टेस्ट मैच की सीरीज में कोलंबो टेस्ट में मुरलीधरन ने 11 वहीं तीसरे टेस्ट में अजंता मेंडिस ने आठ विकेट लेकर भारतीय टीम को सीरीज हारने पर मजबूर कर दिया था। 

-2011 में भारत के इंग्लैंड दौरे पर इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान ने लंदन के ओवल क्रिकेट ग्राउंड पर पूरे मैच में नौ विकेट लेकर इंग्लैंड को पारी के अंतर से जीत दिलाई थी। 

-2012 में भारत दौरे पर आई इंग्लैंड टीम को एतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत मिली थी। इंग्लैंड के स्पिनर मोंटी पनेसर ने पूरी सीरीज में भारत को उन्हीं के घर में परेशान कर दिया था। जहां मुंबई में भारत को दस विकेट और कोलकाता टेस्ट में भारत को पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इन दोनों टेस्ट में मोंटी पनेसर ने क्रमश: 11 और पांच विकेट अपने नाम किए थे। 

-अगले साल दक्षिण अफ्रीके दौरे पर गई भारतीय टीम रोबिन पीटरसन के आगे असहाय नजर आई।  

-साल 2014 में भारतीय टीम इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलियन दौरों पर नाथन लियोन और मोइन अली के आगे कमजोर दिखी।

-पिछले साल भारत दौरे पर आई ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज की शुरुआत काफी बढि़या तरीके से की। भारतीय टीम के लिए अंजान स्पिनर स्टीव ओ कीफे ने पुणे टेस्ट में गजब की गेंदबाजी की और पूरे मैच में 12 विकेट झटके। भारत को इस मैच में 333 रनों की बड़ी हार झेलनी पड़ी थी।

अपनी टीम को 2 बार विश्वकप जिताने वाला कप्तान बना महिला T-20 वर्ल्डकप का ब्रांड एंबेसडर

एलिस्टर कुक ने संन्यास से पहले चुनी चौंकाने वाली 'ऑल टाइम प्लेइंग XI'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India vs England Southampton when world class indian batsmen surrender against spinners