फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटInd vs Eng: विराट कोहली पर जमकर बरसा इंग्लैंड का यह पूर्व क्रिकेटर, कहा- कायदे से अगला टेस्ट खेलना ही नहीं चाहिए

Ind vs Eng: विराट कोहली पर जमकर बरसा इंग्लैंड का यह पूर्व क्रिकेटर, कहा- कायदे से अगला टेस्ट खेलना ही नहीं चाहिए

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर डेविड लॉयड ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर निशाना साधते हुए कहा है कि कायदे से तो उन्हें अहमदाबाद में होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच में खेलने का मौका मिलना ही नहीं...

Ind vs Eng: विराट कोहली पर जमकर बरसा इंग्लैंड का यह पूर्व क्रिकेटर, कहा- कायदे से अगला टेस्ट खेलना ही नहीं चाहिए
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 17 Feb 2021 11:54 AM
ऐप पर पढ़ें

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर डेविड लॉयड ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर निशाना साधते हुए कहा है कि कायदे से तो उन्हें अहमदाबाद में होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच में खेलने का मौका मिलना ही नहीं चाहिए। इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज के दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन विराट कोहली की अंपायर नितिन मेनन से बहस हो गई थी। जो रूट को ऑनफील्ड अंपयार मेनन ने नॉटआउट दिया था, जिसके बाद विराट ने डीआरएस लिया, लेकिन थर्ड अंपायर ने भी अंपायर्स कॉल का फैसला सुनाया, जिसके बाद विराट का गुस्सा मेनन पर निकला था। दरअसल रिप्ले में साफ दिख रहा था कि गेंद स्टंप पर लग रही थी। 

पंत पर वॉन का वार, बोले- एक टेस्ट से आप अच्छे विकेटकीपर नहीं बन सकते

लॉयड ने डेली मेल में अपने कॉलम में लिखा, 'विराट कोहली के खिलाफ कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं या इस पर कोई बात नहीं? एक नैशनल टीम के कप्तान को छूट है कि वह मैदान पर ऑफिशियल से बहस करे, उसकी निंदा करे और इसके बाद उसको अगले टेस्ट में खेलने की इजाजत भी है। और कोई खेल होता तो उन्हें मैदान से बाहर कर दिया गया होता। कोहली को कायदे से अगले सप्ताह होने वाले टेस्ट मैच में खेलना ही नहीं चाहिए।'

IPL ने बढ़ाई ENG की मुश्किलें, NZ सीरीज में नहीं उपलब्ध रहेंगे खिलाड़ी

विराट कोहली के खाते में पहले से ही दो डिमेरिट प्वॉइंट्स हैं और अगर दो और डिमेरिट प्वॉइंट्स उनके खाते में जुड़ते हैं, तो उनको एक टेस्ट, दो वनडे इंटरनैशनल या दो टी20 इंटरनैशनल मैचों से सस्पेंड किया जा सकता है। 24 महीने के अंदर अगर किसी खिलाड़ी के खाते में चार डिमेरिट प्वॉइंट्स होते हैं, तो उन्हें यह सजा झेलनी होती है।

epaper