India vs Bangladesh 1st Test match at holkar cricket stadium indore Virat Kohli on day night test and pink ball - डे-नाइट टेस्ट और पिंक बॉल को लेकर जानिए क्या सोचते हैं विराट कोहली DA Image
6 दिसंबर, 2019|4:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डे-नाइट टेस्ट और पिंक बॉल को लेकर जानिए क्या सोचते हैं विराट कोहली

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इंदौर टेस्ट से पहले पिंक बॉल से खेलने और डे-नाइट टेस्ट को लेकर भी बात की। विराट ने कहा कि ये पिंक बॉल रेड बॉल से ज्यादा स्विंग लेती है।

virat kohli

भारत और बांग्लादेश के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जानी है। सीरीज का पहला टेस्ट मैच 14 नवंबर से इंदौर के होलकर क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाना है, जबकि दूसरा टेस्ट मैच 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर खेला जाएगा। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इंदौर टेस्ट से पहले पिंक बॉल से खेलने और डे-नाइट टेस्ट को लेकर भी बात की। विराट ने कहा कि ये पिंक बॉल रेड बॉल से ज्यादा स्विंग लेती है, लेकिन ये देखना रोचक होगा कि पुरानी होने के बाद वो कैसी रहती है, खासकर जब ओस की भूमिका भी हो।

पिंक बॉल से दूसरा टेस्ट ईडन गार्डन पर 22 नवंबर से खेला जाएगा, जो भारत और बांग्लादेश दोनों के लिए डे-नाइट का पहला टेस्ट होगा। इंदौर टेस्ट से पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में हालांकि ज्यादातर सवाल दूसरे टेस्ट को लेकर ही दागे गए। कोहली ने कहा, 'ये टेस्ट क्रिकेट में नया रोमांच है। मैंने कल पिंक बॉल से खेला जो रेड बॉल की तुलना में ज्यादा स्विंग ले रही थी क्योंकि गेंद पर अतिरिक्त लेकर (पुताई का कोट) लगा था जो जल्दी घिसता नहीं।' उन्होंने कहा, 'पिच अगर गेंदबाजों को अतिरिक्त मदद करेगी तो पूरे मैच में तेज गेंदबाजों की भूमिका रहेगी। मुझे नहीं पता कि ओस रहने पर और लेकर घिस जाने पर पुरानी गेंद कैसे बर्ताव करेगी। ये देखना रोचक होगा।'

INDvBAN 1st Test: जानिए कैसा हो सकता है दोनों टीमों का प्लेइंग XI

INDvBAN 1st Test: जानिए कैसा रहेगा पिच और मौसम का मिजाज

'पिंक बॉल से खेलने के लिए पिच का जीवंत होना जरूरी'

उन्होंने ये भी कहा कि पिंक बॉल के प्रभावी रहने के लिए जीवंत विकेट होना जरूरी है। उन्होंने कहा, 'पिंक बॉल से खेलने पर पिच का जीवंत होना भी जरूरी है।' भारतीय टीम ने दूधिया रोशनी में अभ्यास नहीं किया लेकिन नई बॉल के रंग से सामंजस्य बिठाने के लिए कुछ थ्रोडाउन जरूर किए। कप्तान ने यह भी कहा कि डे-नाइट के टेस्ट को लेकर हाइप लाजमी है लेकिन फोकस फिलहाल पहले मैच पर ही होना चाहिए।

'सारा फोकस इंदौर टेस्ट पर ही'

विराट ने कहा, 'टेस्ट क्रिकेट में आप ध्यान भटका नहीं सकते। एक सेशन या एक ओवर के लिए भी नहीं। फिलहाल हमारा पूरा फोकस कल से शुरू होने वाले मैच पर रहना चाहिए। उसके बाद गुलाबी गेंद पर फोकस करेंगे।' स्थायी टेस्ट केंद्रों के बारे में पूछने पर कोहली ने कहा कि वो चाहते हैं कि टेस्ट फॉरमैट के लिए एक ढांचा रहे। उन्होंने कहा, 'मैंने ऐसा इसलिए कहा कि आप अनुपात देखिए। इंदौर जैसी जगह पर मैदान में भीड़ हो सकती है लेकिन दूसरी जगहों पर नहीं। ऐसा नहीं हो सकता कि मैच एक ही मैदान पर होते रहे, दूसरों पर नहीं।'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India vs Bangladesh 1st Test match at holkar cricket stadium indore Virat Kohli on day night test and pink ball