फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटIND vs AUS: दुकान के मालिक ने खोली पोल, विराट कोहली-हार्दिक पांड्या को लेकर झूठ फैला रहा था ऑस्ट्रेलिया!

IND vs AUS: दुकान के मालिक ने खोली पोल, विराट कोहली-हार्दिक पांड्या को लेकर झूठ फैला रहा था ऑस्ट्रेलिया!

नए साल के मौके पर पांच भारतीय खिलाड़ियों के मेलबर्न के एक रेस्तरां में खाना खाने के बाद से ही एक बड़े विवाद ने जन्म ले लिया था। इसके बाद रोहित शर्मा, शुभमन गिल, ऋषभ पंत, नवदीप सैनी और पृथ्वी शॉ को...

IND vs AUS: दुकान के मालिक ने खोली पोल, विराट कोहली-हार्दिक पांड्या को लेकर झूठ फैला रहा था ऑस्ट्रेलिया!
लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 05 Jan 2021 10:58 PM
ऐप पर पढ़ें

नए साल के मौके पर पांच भारतीय खिलाड़ियों के मेलबर्न के एक रेस्तरां में खाना खाने के बाद से ही एक बड़े विवाद ने जन्म ले लिया था। इसके बाद रोहित शर्मा, शुभमन गिल, ऋषभ पंत, नवदीप सैनी और पृथ्वी शॉ को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने क्वारंटाइन कर दिया था। पांचों खिलाड़ियों के आइसोलेट होने पर ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में यह बातें की जाने लगीं कि इन खिलाड़ियों के अलावा टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने भी पिछले महीने कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया था। इस बीच, इस मुद्दे पर सिडनी के उस दुकान के मालिक का बड़ा बयान आया है, जिसकी दुकान पर दोनों क्रिकेटर शॉपिंग करने गए थे।

दुल्हन की ड्रेस में युजवेंद्र चहल की पत्नी धनश्री वर्मा ने किया क्यूट डांस, VIDEO वायरल

इस मुद्दे पर सिडनी में बेबी शॉप के मालिक नाथन पोंगरास ने साफ तौर पर कहा कि विराट और हार्दिक ने किसी भी तरह का कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया था और सोशल डिस्टेंसिंग का अच्छे से पालन किया था। 'इंडिया टुडे' के मुताबिक, उन्होंने कहा कि जब वे दोनों आए थे, उस समय किसी भी कर्मचारी को क्रिकेटरों के साथ हाथ मिलाने की अनुमति नहीं थी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब कोहली और पांड्या दुकान पर आए थे तब न्यू साउथ वेल्स में कोई प्रतिबंध नहीं था। पोंगरास ने आगे कहा कि वास्तव में यह शर्म की बात है कि इस वजह से मीडिया में इतना कुछ हुआ।

कीवियों के खिलाफ टीम के प्रदर्शन पर भड़के अख्तर, PCB को सुनाई खरी-खोटी

उन्होंने आगे कहा कि, ''मुझे नहीं लगता है कि दोनों क्रिकेटरों ने मास्क पहन रखा था, लेकिन उस समय न्यू साउथ वेल्स में कोरोना के ज्यादा केस नहीं आए थे। उस समय अगर आप गलियों की तरफ देखते तो पाते कि 50 में से केवल एक व्यक्ति ने ही मास्क पहन रखा था, जिसमें ज्यादातर बुजुर्ग लोग शामिल हैं। यहां तक कि प्रेग्नेंट महिलाओं ने भी मास्क नहीं पहन रखा था।'' इस पूरे मुद्दे के बाद तीन जनवरी को टीम इंडिया के सभी खिलाड़ियों और सपोर्टिंग स्टाफ का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसमें किसी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं निकली थी।