फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटमुश्किल पिच पर रोहित शर्मा का ये जज्बा विक्रम राठौड़ को आया पसंद, बैटिंग कोच ने कहा- 'वह आसानी से रन बटोरते हैं लेकिन...'

मुश्किल पिच पर रोहित शर्मा का ये जज्बा विक्रम राठौड़ को आया पसंद, बैटिंग कोच ने कहा- 'वह आसानी से रन बटोरते हैं लेकिन...'

रोहित शर्मा ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच नागपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट की पहली पारी में शतक ठोका। उन्होंने 212 गेंदों में 120 रन बनाए। यह 'हिटमैन' के टेस्ट करियर का नौवां शतक है।

मुश्किल पिच पर रोहित शर्मा का ये जज्बा विक्रम राठौड़ को आया पसंद, बैटिंग कोच ने कहा-  'वह आसानी से रन बटोरते हैं लेकिन...'
Md.akram एजेंसी,नागपुरFri, 10 Feb 2023 10:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने शुक्रवार को कहा कि रोहित शर्मा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी 120 रन की पारी के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी क्योंकि इस पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं है और इसपर रन बनाने के लिए विशेष प्रयास की जरूरत है। रोहित के शतक तथा रवींद्र जडेजा और अक्षर पटेल के अर्धशतकों की मदद से भारत ने पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन पहली पारी में 144 रन की बढ़त हासिल कर ली। 

राठौड़ ने दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा, ''रोहित की यह विशेष पारी थी और उन्हें रन बनाते हुए देखकर अच्छा लगा। उन्होंने अच्छा जज्बा दिखाया और यह बहुत महत्वपूर्ण पारी थी क्योंकि इस पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था।'' रोहित ने जब से पारी का आगाज करना शुरू किया तब से उन्होंने कुछ शानदार पारियां खेलीं लेकिन उनके तीन शतक खास हैं जिनमें चेन्नई में 161 रन, ओवल में शतक और शुक्रवार को यहां धीमी पिच पर लगाया गया शतक शामिल है। 

राठौड़ ने कहा, ''यह उनकी बल्लेबाजी की विशेषता है। उन्होंने इंग्लैंड की तेज पिचों पर रन बनाए लेकिन अगर हम उनकी इस पारी की बात करें तो उन्हें रन बनाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी। अमूमन रोहित शुरू में कुछ रन बनाने के बाद आसानी से रन बटोरते हैं लेकिन यहां उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी।'' भारत भले ही अच्छी बढ़त हासिल कर चुका है लेकिन राठौड़ आत्ममुग्धता में नहीं रहना चाहते हैं कि टीम ने मैच अपनी झोली में डाल दिया है। उन्होंने कहा,''मैं ऐसा नहीं सोचता। आप तब तक ऐसा नहीं कह सकते जब तक कि आखिरी गेंद न पड़ जाए।'' 

राठौड़ से पूछा गया कि कुलदीप यादव पर अक्षर को प्राथमिकता इसलिए दी गई कि वह अच्छे बल्लेबाज हैं, तो उन्होंने इसका खंडन किया। उन्होंने कहा, ''वह (अक्षर) बहुत अच्छे गेंदबाज भी हैं, इसलिए इस पर (उनकी बल्लेबाजी) पर विचार नहीं किया गया। हां, उनकी बल्लेबाजी बोनस है।'' राठौड़ ने सलामी बल्लेबाज केएल राहुल का भी बचाव किया जिन्हें खराब फॉर्म के बावजूद अंतिम एकादश में शामिल किया गया।