फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटIND vs AUS: क्या 2004 में एडिलेड मे हुए 'चमत्कार' को ब्रिसबेन में दोहरा पाएगी टीम इंडिया?

IND vs AUS: क्या 2004 में एडिलेड मे हुए 'चमत्कार' को ब्रिसबेन में दोहरा पाएगी टीम इंडिया?

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिसबेन में खेला जा रहा बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज का चौथा मैच रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है। ऑस्ट्रेलिया ने मैच के तीसरे दिन बिना किसी नुकसान के 21 रन बनाकर टीम इंडिया पर...

IND vs AUS: क्या 2004 में एडिलेड मे हुए 'चमत्कार' को ब्रिसबेन में दोहरा पाएगी टीम इंडिया?
लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 17 Jan 2021 11:09 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिसबेन में खेला जा रहा बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज का चौथा मैच रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है। ऑस्ट्रेलिया ने मैच के तीसरे दिन बिना किसी नुकसान के 21 रन बनाकर टीम इंडिया पर अब तक 54 रनों की बढ़त लेकर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। टीम के अभी सभी 10 विकेट सुरक्षित हैं, ऐसे में टीम मैच के चौथे दिन बड़ा स्कोर बनाकर टीम इंडिया पर दवाब बनाना चाहेगी। इस मैच में भारत पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया से 33 रन पीछे रह गया। इसी के साथ लोगों को टीम इंडिया का 2003-2004 का ऑस्ट्रेलिया दौरा याद आ गया, जब टीम एडिलेड में पहली पारी में 33 रन से पीछे रहने के बावजूद जीत दर्ज करने में सफल रही थी।

इस दौरे पर दोनों टीमों के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेली गई थी। सीरीज का पहला मैच ब्रिसबेन में खेला गया, जो ड्रॉ रहा था। एडिलेड में खेले गए सीरीज के दूसरे मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने रिकी पोंटिंग के जोरदार दोहरे शतक के दम पर पहली पारी में 556 रनों का पहाड़नुमा स्कोर खड़ा किया था। इसके जवाब में टीम इंडिया ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए पहली पारी में 523 रन बनाए। इस मैच में भारत की तरफ से मिस्टर भरोसेमंद राहुल द्रविड़ ने दोहरा शतक और वीवीएस लक्ष्मण ने शानदार शतक जड़ा था। टीम हालांकि पहली पारी में 33 रनों से पीछे रह गई।

शार्दुल-सुंदर की जोड़ी का धमाका, तोड़ डाला 30 साल पुराना रिकॉर्ड

इस मैच में भारतीय गेंदबाज ने अजीत अगरकर की अगुवाई में दूसरी पारी में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को मात्र 196 रनों पर समेट दिया, जिससे टीम को 230 रनों का टारगेट मिला। टीम ने इस लक्ष्य को राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर की बेहतरीन पारियों के दम पर छह विकेट खोकर हासिल कर लिया। राहुल द्रविड़ को उनके बेहतरीन दोहरे शतक के लिए मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड से नवाजा गया।

यह मैच को जीतने के बाद टीम इंडिया की तारीफ पूरी दुनिया में हुई थी, क्योंकि टीम इंडिया ने पहली पारी में पिछड़ने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को उनके घर में ही धूल चटाई थी। ऑस्ट्रेलिया ने हालांकि, इस मैच के बाद सीरीज की तीसरा मुकाबला 9 विकेट से अपने नाम किया, जो कि मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला गया था। सिडनी में खेला गया आखिरी मैच ड्रॉ रहा, जिससे दोनों टीमों के बीच चार मैचों की सीरीज ड्रॉ रही। यह सीरीज के बाद भारतीय क्रिकेट टीम में जबरदस्त परिवर्तन देखे गए और टीम ने कई यादगार जीत हासिल कीं। इसमें विदेशी दौरों पर दर्ज की गईं जीत भी शामिल हैं। ऐसे में अब यह देखना काफी रोचक होगी कि क्या टीम इंडिया अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में एक बार फिर उस जैसी चमत्कारिक जीत दर्ज कर पाएगी।

पिता के निधन के एक दिन बाद हार्दिक पांड्या ने शेयर की इमोशनल पोस्ट

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें