फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटIND vs AUS: आकाश चोपड़ा ने बताया, सिडनी में अजिंक्य रहाणे के खिलाफ किस प्लानिंग के साथ उतरेंगे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज

IND vs AUS: आकाश चोपड़ा ने बताया, सिडनी में अजिंक्य रहाणे के खिलाफ किस प्लानिंग के साथ उतरेंगे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज

भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज अब तक फैन्स के लिहाज से काफी जबरदस्त रही है, जिसमें दोनों टीमें एक-एक मैच जीतकर बराबरी पर चल रही हैं। सीरीज का तीसरा मैच सिडनी में खेला जाना है।...

IND vs AUS: आकाश चोपड़ा ने बताया, सिडनी में अजिंक्य रहाणे के खिलाफ किस प्लानिंग के साथ उतरेंगे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज
लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 04 Jan 2021 11:01 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज अब तक फैन्स के लिहाज से काफी जबरदस्त रही है, जिसमें दोनों टीमें एक-एक मैच जीतकर बराबरी पर चल रही हैं। सीरीज का तीसरा मैच सिडनी में खेला जाना है। इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड बेहतरीन रहा है। इसमें मैच में सबकी निगाहें एक बार फिर नियमित कप्तान विराट कोहली की जगह टीम की बागड़ोर संभाल रहे अजिंक्य रहाणे पर होंगी, जिनकी शानदार कप्तानी और बल्लेबाजी के दम पर टीम इंडिया ने कंगारू टीम को मेलबर्न में हराकर आठ विकेट से हराकर सीरीज बराबर की थी। इस मैच के शुरू होने से पहले पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने बताया है कि सिडनी टेस्ट में कंगारू गेंदबाज किस प्लान के साथ भारतीय कप्तान के खिलाफ गेंदबाजी करते दिखेंगे।

जाफर ने फिर भेजा अजिंक्य रहाणे को 'सीक्रेट' मैसेज, फैन्स हुए कन्फ्यूज

इस पर बात करते हुए आकाश चोपड़ा ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है। इसमें उन्होंने कहा कि कि मेलबर्न की तरह ही इस मैच में भी भारत की तरफ से सबसे ज्यादा जिम्मेदारी अजिंक्य रहाणे पर ही होगी। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में रहाणे के टेस्ट आंकड़ों पर बात करते हुए कहा कि भारतीय कप्तान को खराब और मुश्किल पिचें अक्सर भाती हैं। रहाणे ने अब तक ऑस्ट्रेलिया में अब तक 10 टेस्ट खेले हैं, जिसमें उन्होंने दो शतक और लगभग 47 की शानदार औसत से 797 रन बनाए हैं। इसमें उनका बेस्ट स्कोर 147 का रहा है।

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की रहाणे के खिलाफ प्लानिंग पर बात करते हुए आकाश ने कहा कि सिडनी में रहाणे को पैर के आगे की तरफ गेंदें डाली जाएगीं और कोशिश की जाएगी कि वो एलबीडब्ल्यू हो जाएं, इसलिए उन्हें अपना वजन आगे की तरफ रखना होगा। इसके अलावा कंगारू तेज गेंदबाज बीच-बीच में उनका बाउंसर टेस्ट भी लेते रहेंगे, इसलिए उन्हें इस बात पर ज्यादा फोकस करना होगा कि वो उनका वेट ज्यादा पीछे की तरफ न जाए और वह बैलेंस होकर बल्लेबाजी कर सकें।

IND vs AUS: 'मुश्किल समय में खिलाड़ियों को बिना शिकायत किए आगे बढ़ना चाहिए'