DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगला वर्ल्ड कप जीतना है तो भारत को इन 5 कमजोरियों को करना होगा दूर

अगला वनडे विश्व कप 2023 में भारत में होना है। यदि भारत को अपनी तीसरा वर्ल्ड कप जीतना है तो उसे अपनी इन कमियों को दूर कर इन बातों पर गौर करना होगा। 

virat kohli  rohit sharma  afp

विश्व कप (ICC World Cup 2019) में भारत ने लीग स्टेज पर अपना दबदबा दिखाया। भारत ने लीग चरण में 9 में से 7 मैच जीते और अंकतालिका में टॉप पोजिशन हासिल की। लेकिन टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद भारत सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर बाहर हो गया। इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के शानदार परफॉर्मेंस के बावजूद कई कमियां भी सामने आई हैं।

2020 में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाना है। इसके बाद अगला वनडे विश्व कप 2023 में भारत में होना है। यदि भारत को अपनी तीसरा वर्ल्ड कप जीतना है तो उसे अपनी इन कमियों को दूर कर इन बातों पर गौर करना होगा। 

बैकअप ओपनर की जरूरतः निश्चित रूप से रोहित शर्मा और शिखर धवन के रूप में भारत के पास उम्दा ओपनर हैं। इन दोनों ने 103 वनडे मैचों में 4681 रन बनाए हैं। विश्व कप में शिखर धवन के चोटिल होने के बाद केएल राहुल को ओपनिंग का अवसर दिया गया। लेकिन भारत को अगले विश्व कप के लिए बैकअप ओपनर तलाश करना होगा। मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, शुभमन गिल को अधिक से अधिक मौके दिए जाने चाहिए ताकि अगले विश्व कप तक भारत के पास बैकअप ओपनर मौजूद रहें। 

ऐसा है ICC टी-20 वर्ल्ड कप 2020 का शेड्यूल, जानें कब और कहां होंगे मैच

मजबूत नंबर 4 की तैयारीः टीम इंडिया पिछले कुछ सालों से लगातार नंबर 4 की खोज कर रही है। भारत ने विश्व कप 2015 से अब तक इस नंबर के लिए अबतक अलग-अलग ना जाने कितने बल्लेबाजों को आजमा चुका है। लेकिन अब तक किसी का नाम तय नहीं है। भारत को अन्य विकल्पों पर गौर करना चाहिए। नितीश राणा, शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर बढ़िया विकल्प हो सकते हैं। बीसीसीआई को ऐसे खिलाडियों पर ध्यान देना चाहिए जो स्ट्राइक रोटेट कर सकें। 

अन्य स्पिनर का उपयोगः पिछले साल भारत स्पिनर जोड़ी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल पर बहुत हद तक निर्भर रहा। भारत को अब इन दोनों स्पिनरों के अलावा दूसरे स्पिनरों की खोज करनी चाहिए। ताकि उन्हें अगल विश्व कप तक तैयार किया जा सके। कुलदीप यादव खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं और विश्व कप में चहल को भी खास सफलता नहीं मिली। यदि भारत के पास स्पिनरों के ओर विकल्प होंगे तो टीम के लिए उपयोगी होंगे। आईपीएल में अनेक युवा स्पिनरों ने बढ़िया प्रदर्शन किया था, टीम प्रबंधन उन पर गौर कर सकता है। राहुल चाहर, श्रेयस गोपाल जैसे बॉलर को आजमा सकते हैं। 

धौनी का विकल्पः महेंद्र सिंह धौनी भारत के महान विकेकीपर और मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज हैं। कठिन से कठिन परिस्थितियों में अपनी कूलनेस बनाए रखना धौनी की खासियत है। लेकिन अब समय आ गया है जब धौनी के विकल्प गंभीरता से तलाशने होंगे। ऋषभ पंत के अलावा संजू सैमसन का नाम भी विकल्प के रूप में लिया जा सकता है। लेकिन टीम प्रबंधन इन दोनों को अधिक मौके देकर इनका आत्मविश्वास बढ़ा सकता है। 

ICC World Cup:  जानिए, अब कहां खेला जाएगा अगला आईसीसी वर्ल्ड कप

कप्तान के भी विकल्प होने चाहिएः विराट कोहली इस समय दुनिया के शानदार बल्लेबाज हैं, वह आगे बढ़कर टीम का नेतृत्व करते हैं। उनके भीतर रनों की जबरदस्त भूख है। लेकिन यह आज की स्थिति है। 5 नवंबर को विराट कोहली 31 साल के हो जाएंगे। चार साल बाद उनका खेल पर उनकी उम्र का प्रभाव वह इस फॉर्म को जारी रख पाएंगे या नहीं यह भी बड़ा सवाल होगा। लिहाजा टीम प्रबंधन को कप्तान के रूप में उनके विकल्प पर गौर करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:india national cricket team should work on these 5 points to win icc world cup 2023 virat kohli rohit sharma shikhar dhawan