DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत इस बार भी जीतेगा चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब, ये रहा सबूत

भारत इस बार भी जीतेगा चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब, ये रहा सबूत
भारत इस बार भी जीतेगा चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब, ये रहा सबूत

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का गुरूवार से आगाज़ हो गया है जहां सभी टीमें खिताब पर नजर लगाए हैं। हालांकि गत चैम्पियन भारतीय टीम के प्रदर्शन और उसके खिलाड़ियों की आक्रामकता के मद्देनजर इस साल भी वह जीत की प्रबल दावेदार है जो खिताबी हैट्रिक के लक्ष्य के साथ उतर रही है।
           
टूर्नामेंट की शुरुआत 1 जून को मेजबान इंग्लैंड का बांग्लादेश के बीच होने वाले मुकाबले से होगी। इसके बाद गत चैम्पियन भारत 4 जून को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से अपने अभियान की शुरुआत करेगी। 
           
भारत ने अपने दोनों अभ्यास मैच जीतकर दिखा दिया है कि खिताब बचाने के लिए उसके बल्लेबाज के साथ साथ गेंदबाज भी शानदार लय में है और उसके तेज गेंदबाजों की तिकड़ी किसी भी टीम के बल्लेबाज के लिए मुसीबत खड़ी कर सकती है। टीम में इस समय युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का मिश्रण है जो किसी भी तरह की परिस्थितियों से निपटने में सक्षम है।

OMG! क्या पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलेंगे धौनी, जानें क्या है वजह? 
           
भारत इससे पहले 1998 में बंगलादेश में, 2002 में मेजबान श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से और 2013 में इंग्लैंड में ही चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम कर चुका है। भारत इस बार भी चाहेगा कि वह खिताब जीतकर ऑस्ट्रेलिया के बाद खिताब बचाने वाली दूसरी टीम बने। 

ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड को नहीं कर सकते नजरअंदाज
ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड को नहीं कर सकते नजरअंदाज

टूनार्मेंट के प्रबल दावेदारों में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया और मेजबान इंग्लैंड को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया इससे पहले 2006 में भारत में और 2009 में दक्षिण अफ्रीका में खिताब जीत चुका है। हालांकि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट संघ (एसीए) का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के बीच मौजूदा वेतन को लेकर जारी विवाद के कारण खिलाड़यिों का मनोबल गिरा है। लेकिन खिलाड़ी चाहेंगे कि वे इस मतभेद को भुलाकर अच्छे प्रदर्शन पर ध्यान दें।
               
इसके अलावा जहां इंग्लैंड को अपनी मेजबानी में खेलने का फायदा मिल सकता है तो वहीं दक्षिण अफ्रीका भी सेमीफाइनल तक का सफर कर सकता है। लेकिन इग्लैंड का इतिहास रहा है कि वह 20-20 विश्वकप को छोड़कर अब तक को कोई बड़ा आईसीसी खिताब नहीं जीत पाया है। वहीं दक्षिण अफ्रीका सेमीफाइनल तक पहुंचने में तो सक्षम है लेकिन उसके ऊपर लगा चोकर्स का धब्बा उसे आईसीसी खिताब से दूर कर सकता है।
                 
पाकिस्तान की टीम एक ऐसी टीम है जो कभी भी बड़ा उलटफेर कर सकती है। सरफराज अहमद के नेतृत्व वाली टीम में ऐसा ही कुछ करने की काबिलियत है। इसके अलावा न्यूजीलैंड, श्रीलंका और बांग्लादेश की टीमें ऐसी टीमें हैं जो' क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल हैं' वाली कहावत को चरितार्थ कर सकती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:india can win champions trophy 2017, here is proof