फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटCWG 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ नाइंसाफी, भड़के वीरेंद्र सहवाग, कहा- क्रिकेट में भी ऐसा हुआ, जब तक हम सुपरपावर नहीं बने

CWG 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ नाइंसाफी, भड़के वीरेंद्र सहवाग, कहा- क्रिकेट में भी ऐसा हुआ, जब तक हम सुपरपावर नहीं बने

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में 5 अगस्त को महिला हॉकी टीम का सेमीफाइनल मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेला गया। इस मैच में ऐसा विवाद हुआ, जिसके बाद वीरेंद्र सहवाग का गुस्सा ट्विटर पर निकला है।

CWG 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ नाइंसाफी, भड़के वीरेंद्र सहवाग, कहा- क्रिकेट में भी ऐसा हुआ, जब तक हम सुपरपावर नहीं बने
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 06 Aug 2022 10:56 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के महिला हॉकी के सेमीफाइनल मैच के बाद ट्विटर पर जमकर अपनी भड़ास निकाली है। भारतीय कप्तान सविता ने बड़ी ही चालाकी से ऑस्ट्रेलिया का पेनल्टी शूटआउट रोका था, लेकिन अंपायर ने इसे यह कहकर अमान्य करार दिया कि क्लॉक स्टार्ट ही नहीं हुआ था। कॉमनवेल्थ गेम्स जैसे बड़े इवेंट में इस तरह की लापरवाही वह भी इतने अहम मैच में, यह किसी से पच नहीं रहा है। ट्विटर पर लोग कह रहे हैं कि भारत ऑस्ट्रेलिया से नहीं बल्कि बेईमानी से हारा है।

सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हारी भारतीय महिला हॉकी टीम

सहवाग ने ट्विटर पर इस विवादित पेनल्टी शूट का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'पेनल्टी मिस हुआ ऑस्ट्रेलिया से, और अंपायर ने कहा कि सॉरी क्लॉक स्टार्ट नहीं हुआ। इस तरह का भेदभाव क्रिकेट में भी होता था, जब तक हम सुपरपावर नहीं बने थे। हॉकी में भी हम जल्द बनेंगे और फिर सभी क्लॉक समय पर शुरू होंगे, मुझे अपनी लड़कियों पर गर्व है।'

 

भारत के साथ हुई नाइंसाफी का जिम्मेदारी कौन? हॉकी मैच के दौरान हुआ बवाल

भारत ने मैच में निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 की बराबरी पर रखा, जिसके बाद मैच का रिजल्ट शूटआउट तक पहुंचा। इस विवादित पेनल्टी शूट के बाद भारतीय टीम का मनोबल गिरा हुआ नजर आया और इसका असर उनके खेल पर भी दिखा। भारत को पेनल्टी शूटआउट में 0-3 से हार झेलनी पड़ी। भारत अभी भी मेडल की दौड़ से बाहर नहीं हुआ है। भारतीय टीम अब ब्रॉन्ज मेडल के लिए खेलेगी, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल में पहुंचकर कम से कम अपना सिल्वर मेडल पक्का कर लिया है।

epaper