फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटIND vs WI: ईशान किशन या ऋषभ पंत? कौन करेगा रोहित शर्मा के साथ पारी का आगाज?

IND vs WI: ईशान किशन या ऋषभ पंत? कौन करेगा रोहित शर्मा के साथ पारी का आगाज?

भारत को आज से वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज का आगाज करना है। केएल राहुल इस सीरीज के लिए टीम से नहीं जुड़ पाए हैं, ऐसे में देखना होगा पारी का आगाज रोहित के साथ कौन करता है।

IND vs WI: ईशान किशन या ऋषभ पंत? कौन करेगा रोहित शर्मा के साथ पारी का आगाज?
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 29 Jul 2022 12:07 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

इंग्लैंड के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल सीरीज में रोहित शर्मा के साथ पारी का आगाज ऋषभ पंत ने किया था। केएल राहुल इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए स्क्वॉड का हिस्सा नहीं थे। अब वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए भी वह टीम इंडिया से जुड़ नहीं पाए हैं। ऐसे में टीम मैनेजमेंट के सामने रोहित शर्मा के साथ पारी का आगाज कराने के लिए दो ही विकल्प बचते हैं। ईशान किशन या फिर ऋषभ पंत। पंत इंग्लैंड दौरे पर सलामी बल्लेबाज के रोल में ज्यादा फिट नजर नहीं आए थे, ऐसे में क्या टीम मैनेजमेंट एक बार फिर उन्हें या मौका देगी?

IND vs WI: वेस्टइंडीज टी20 टीम में हुई इस धाकड़ बल्लेबाज की वापसी

क्यों ईशान को करना चाहिए रोहित के साथ ओपन?

ईशान किशन ताबड़तोड़ बल्लेबाज हैं और मुंबई इंडियंस में भी रोहित शर्मा के साथ लंबे समय से खेल रहे हैं। रोहित और उनके बीच का तालमेल भी काफी अच्छा है। इसके अलावा ईशान लेफ्ट हैंडर बैट्समैन हैं, जबकि रोहित राइट हैंडर, ऐसे में लेफ्ट और राइट का कॉम्बिनेशन भी बना रहेगा। ईशान ने भारत के लिए अभी तक 18 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, जिसमें से 16 उन्होंने सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेले हैं। ईशान ने इन 16 मैचों में 31.75 की औसत और 134.39 के स्ट्राइक रेट से कुल 508 रन बनाए हैं। ऐसे में पारी का आगाज करने के लिए ईशान फिलहाल बेस्ट ऑप्शन नजर आ रहे हैं।

कैरेबियाई धरती पर होगी चौके-छक्कों की बारिश, आज खेला जाएगा पहला टी20

पंत से पारी का आगाज कराना क्यों है टीम इंडिया के लिए गैम्बल?

वहीं पंत की बात करें तो उन्होंने अभी तक महज दो टी20 इंटरनेशनल मैचों में पारी का आगाज किया है और दोनों बार ही फेल हुए हैं। पंत ने दो मैच मिलाकर कुल 27 रन ही बनाए हैं और टीम के तेज शुरुआत दिलाने में भी फेल हुए हैं। वहीं खुद कप्तान रोहित की बैटिंग फॉर्म कोई बहुत जबर्दस्त नहीं चल रही है, ऐसे में अगर दूसरे छोर से उन्हें साथ नहीं मिलता है, तो उन पर भी दबाव बढ़ सकता है। इस साल टी20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया में खेला जाना है और एक्सपेरिमेंट करने के लिए टीम इंडिया के पास बहुत ज्यादा समय नहीं बचा है।

epaper