फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटIND vs SA: सुनील गावस्कर ने बताया, विराट कोहली को नए साल पर सचिन को फोन करके क्या पूछना चाहिए

IND vs SA: सुनील गावस्कर ने बताया, विराट कोहली को नए साल पर सचिन को फोन करके क्या पूछना चाहिए

साल 2021 टीम इंडिया के लिए शानदार रहा। भारत ने इस साल टेस्ट क्रिकेट में अपना दबदबा बनाया। भारत ने इस साल ब्रिस्बेन, लॉर्ड्स, ओवल  और सेंचुरियन में मैच जीते। 124 रेटिंग प्वॉइंट्स के साथ टीम...

IND vs SA: सुनील गावस्कर ने बताया, विराट कोहली को नए साल पर सचिन को फोन करके क्या पूछना चाहिए
Hemraj Chauhanलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 31 Dec 2021 04:21 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

साल 2021 टीम इंडिया के लिए शानदार रहा। भारत ने इस साल टेस्ट क्रिकेट में अपना दबदबा बनाया। भारत ने इस साल ब्रिस्बेन, लॉर्ड्स, ओवल  और सेंचुरियन में मैच जीते। 124 रेटिंग प्वॉइंट्स के साथ टीम इंडिया टेस्ट में पहले नंबर पर है। भारतीय पेस अटैक इस समय दुनिया के बेस्ट पेस अटैक में से एक है और उसने भारत को कई मैच जिताए। हालांकि टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली पूरे साल बल्ले से संघर्ष करे और उनका 71वें इंटरनेशनल शतक का इंतजार खत्म नहीं हुआ। विराट ने दो साल से इंटरनेशनल क्रिकेट में किसी भी फॉर्मेट में शतक नहीं जड़ा है। 

सेंचुरियन टेस्ट में वो पहली पारी में 35 और दूसरी पारी में 18 रन बनाकर आउट हो गए। गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स पर मैच के बाद के शो में कहा कि कोहली को सचिन तेंदुलकर को फोन करना चाहिए। गावस्कर ने साल  2003-04 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे को याद किया, जहां मास्टर ब्लास्टर ने सिडनी टेस्ट में दोहरा शतक ठोका था। सचिन ने दूसरी पारी में भी फिफ्टी जड़ी और टीम इंडिया को मैच ड्रा कराने में मदद मिली। इसके बाद सीरीज 1-1 से बराबरी पर रही। गावस्कर ने कहा कि कोहली की तरह सचिन को ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों का पीछा करने की आदत थी, जिसे वो सिडनी टेस्ट में कंट्रोल करने में कामयाब रहे। 

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने बताया, टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ मिली जीत क्यों है इस साल का सबसे यादगार पल

उन्होंने कहा,' यह शानदार होगा अगर कोहली नए साल के मौके पर सचिन को शुभकामनाएं देने के लिए फोन करें और उनसे पूछें कि साल 2003-04 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने इसी तरह आउट होने के बाद ऑफ स्टंप के बाहर के शॉट्स पर कैसे कंट्रोल किया था।' गावस्कर ने आगे कहा' सचिन कवर्स में आउट हो रहे थे या विकेट के पीछे। इसके बाद उन्होंने चौथे टेस्ट में फैसला किया कि वो कवर्स में नहीं खेलेंगे। वह केवल मिड-ऑफ या स्ट्रैट और ऑन साइड में ही खेल रहे थे और उसका अंत क्या हुआ। पहली पारी में नाबाद 241 रन और दूसरी पारी में नाबाद 60 रन।'

epaper