फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटJasprit Bumrah on Critics: यही लोग कहते थे मेरा करियर खत्म...किस पर फूटा जसप्रीत बुमराह का गुस्सा; कहा-इनका डबल स्टैंडर्ड

Jasprit Bumrah on Critics: यही लोग कहते थे मेरा करियर खत्म...किस पर फूटा जसप्रीत बुमराह का गुस्सा; कहा-इनका डबल स्टैंडर्ड

Jasprit Bumrah on Critics: टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी शानदार गेंदबाजी से जीत दिलाने वाले जसप्रीत बुमराह का गुस्सा फूट पड़ा है। जसप्रीत का गुस्सा फूटा है अपने कुछ खास क्रिटिक्स पर।

Jasprit Bumrah on Critics: यही लोग कहते थे मेरा करियर खत्म...किस पर फूटा जसप्रीत बुमराह का गुस्सा; कहा-इनका डबल स्टैंडर्ड
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 10 Jun 2024 07:30 PM
ऐप पर पढ़ें

Jasprit Bumrah on Critics: टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी शानदार गेंदबाजी से जीत दिलाने वाले जसप्रीत बुमराह का गुस्सा फूट पड़ा है। जसप्रीत का गुस्सा फूटा है उन क्रिटिक्स के ऊपर जो कल तक कहते थे कि उनका करियर खत्म हो चुका है। बुमराह ने कहा कि उन्हें यह बात बहुत हास्यास्पद लगती है कि आज यही लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं। बुमराह ने 2022 में पीठ के निचले हिस्से में ‘स्ट्रेस फ्रेक्चर’ के लिए सर्जरी करायी थी। इसके चलते वह ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप में नहीं खेल पाये थे। घरेलू सरजमीं पर सिरीज में वापसी करने से पहले उन्हें खिंचाव आ गया, जिससे वह 10 से ज्यादा महीनों के लिए क्रिकेट से बाहर हो गये। इसके बाद यह सवाल उठने लगा कि वह क्या वह तीनों फॉर्मेट में लगातार खेल पाएंगे? 

मुंह करा दिया बंद
हालांकि बुमराह ने जबर्दस्त वापसी की है। उन्होंने पिछले एक साल में तीनों प्रारूपों में मिलाकर 67 विकेट झटकते हुए क्रिटिक्स का मुंह बंद कर दिया। इसमें रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ कम स्कोर वाले टी20 विश्व कप मुकाबले में 14 रन देकर तीन विकेट चटकाने वाला मैच विजयी प्रदर्शन भी शामिल है। बुमराह ने वापसी करने की उनकी काबिलियत पर शक करने वाले लोगों पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एक साल पहले तक ये ही लोग कह रहे थे कि मैं शायद फिर दोबारा नहीं खेल पाऊंगा और मेरा करियर खत्म हो गया है। लेकिन अब यह सवाल बदल गया है। गौरतलब है कि भारत ने महज 119 रन पर सिमटने के बाद बुमराह के शानदार प्रदर्शन के बूते पाकिस्तान को सात विकेट पर 113 रन के स्कोर पर रोक दिया।

क्रिटिक्स को खूब समझता हूं
बुमराह आलोचकों की ‘अदलू-बदलू’ प्रकृति को बखूबी समझते हैं। वह जानते हैं कि उनके लिए सर्वश्रेष्ठ यही है कि वह खुद के नियंत्रण वाली चीजों पर काम करें। उन्होंने कहा कि मैं मैच में इस चीज पर ध्यान नहीं देता कि मैं अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता से गेंदबाजी कर रहा हूं या नहीं, बल्कि मैच में प्रॉब्लम सॉल्व करने की कोशिश करता हूं। मैं जानता हूं कि यह घिसा-पिटा जवाब है। लेकिन मैं इसी पर फोकस करने की कोशिश कर रहा था कि इस तरह के विकेट पर यहां सर्वश्रेष्ठ विकल्प क्या है। बुमराह ने कहा कि मैं शॉट लगाना कितना मुश्किल बना देता हूं? मेरे लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प क्या हैं? इस तरह मैं वर्तमान में रहने की कोशिश करता हूं कि और मुझे क्या करना है, इस पर फोकस करता हूं। 

बाहर की भावनाओं का असर नहीं
बुमराह ने कहा कि इस तरह के भावनाओं से भरे बड़े मुकाबले में बाहर का शोर दबाव बना सकता है। लेकिन बुमराह इन सब की अनदेखी कर इससे निपटने में सफल रहते हैं, उन्होंने कहा कि अगर मैं बाहर का शोर देखूंगा, लोगों को देखूंगा तो दबाव और भावनायें हावी हो जायेंगी। फिर मेरे लिए चीजें काम नहीं करेंगी। आईपीएल) 17 पिछले महीने ही खत्म हुआ है और टी20 विश्व कप खेलने आयी भारतीय गेंदबाजी इकाई इसके कारण थकी नहीं दिख रही है। उन्होंने कहा कि आईपीएल हालांकि गेंदबाजों के मुफीद नहीं था, लेकिन हम खुश हैं कि हम थकान के साथ यहां नहीं आये हैं। हमें जब भी यहां मदद मिल रही है तो हम इसका इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement