Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटIND vs NZ: कानपुर टेस्ट ड्रॉ रहने पर कीवी कप्तान केन विलियमसन ने की इन दो खिलाड़ियों की जमकर तारीफ

IND vs NZ: कानपुर टेस्ट ड्रॉ रहने पर कीवी कप्तान केन विलियमसन ने की इन दो खिलाड़ियों की जमकर तारीफ

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMohan Kumar
Mon, 29 Nov 2021 07:00 PM
IND vs NZ: कानपुर टेस्ट ड्रॉ रहने पर कीवी कप्तान केन विलियमसन ने की इन दो खिलाड़ियों की जमकर तारीफ

इस खबर को सुनें

रविंद्र जडेजा और आर अश्विन की शानदार गेंदबाजी के बावजूद भारत कानपुर टेस्ट के आखिरी दिन न्यूजीलैंड को ऑलआउट करने में सफल नहीं हो सका, जिसकी वजह से दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट ड्रॉ हो गया। भारत के खिलाफ इस मैच को ड्रॉ कराने में न्यूजीलैंड की तरफ से डेब्यू कर रहे रचिन रविंन्द्र और विलियम समरविल ने अहम भूमिका निभाई। रविंद्र ने 91 गेंदों पर 18 रनों की नाबाद पारी खेली, जबकि नाइट वॉचमैन के तौर पर उतरे समरविल ने भी 110 गेंदों पर 36 रन बनाकर अहम बड़ा योगदान दिया। उनकी इस पारी से न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन बेहद प्रभावित दिखे और मैच खत्म होने के बाद दोनों खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की है।

IND vs NZ: क्या आखिरी आधे घंटे में अंपायरों का लगातार लाइट चेक करना सही था? अजिंक्य रहाणे ने दिया जवाब

विलियमसन ने भारत के खिलाफ पहला टेस्ट हार की कगार पर पहुंच जाने के बावजूद ड्रॉ हो जाने पर राहत की सांस लेते हुए कहा कि यह काफी शानदार मैच रहा। विलियमसन ने कहा, ''आखिर तक तीनों रिजल्ट संभव दिख रहे थे। हमने दिन भर बल्लेबाजी की और दृढ़ता दिखाई। यह रचिन, एजाज और समरविल के लिए बहुत अच्छा अनुभव रहा। यहां पर स्टेडियम में फैंस को आते देखना भी सुखद था। हमारे दोनों तेज गेंदबाज़ों ने बेहतरीन गेंदबाज़ी की। यह एक मजबूत भारतीय टीम है, इसलिए हमें हर डिपार्टमेंट में बेहतरीन प्रदर्शन करना था।' उन्होंने कहा, ''कुल मिलाकर इस मुकाबले का अनुभव अच्छा रहा। हमें मुंबई में अलग तरह की पिच के लिए तैयारी करनी होगी।''

भारत-न्यूजीलैंड के बीच कानपुर टेस्ट ड्रॉ रहने के बाद वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के Point Table में कहां है टीम इंडिया?

न्यूजीलैंड की आखिरी जोड़ी नहीं तोड़ पाए भारतीय स्पिनर

हाल के समय की सबसे धीमी भारतीय टेस्ट पिचों में से एक ग्रीन पार्क पर विपक्षी टीम के खिलाफ बेहद सटीक समझे जाने वाले दो बेहतरीन स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा अपनी सभी तकनीक और विविधताओं का प्रयोग कर रहे थे, ताकि उनकी टीम को वह आखिरी विकेट मिल जाए। दुनिया की नंबर एक और दो टीमों के बीच एक रोमांचक टेस्ट मैच निर्धारित समय से 12 मिनट पहले खराब लाइट के कारण खत्म हुआ, जिसमें भारत जीत से एक विकेट दूर रह गया। भले ही खराब रोशनी ने मैच में खलल डाला, लेकिन इस मैच को ड्रॉ करवाने के लिए कीवी बल्लेबाजों ने गजब की ढृढ़ता दिखाई और आखिरी विकेट के लिए रचिन और एजाज ने मुश्किल परिस्थितियों में 52 गेंदों का सामना किया और अपना विकेट नहीं खोया। 

epaper

संबंधित खबरें