Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटIND vs NZ: श्रेयस अय्यर ने बताया, कोच की कौन सी शर्त की पूरी, अब इस चीज का देंगे न्योता

IND vs NZ: श्रेयस अय्यर ने बताया, कोच की कौन सी शर्त की पूरी, अब इस चीज का देंगे न्योता

एजेंसी,नई दिल्लीHemraj Chauhan
Fri, 26 Nov 2021 09:00 PM
IND vs NZ: श्रेयस अय्यर ने बताया, कोच की कौन सी शर्त की पूरी, अब इस चीज का देंगे न्योता

इस खबर को सुनें

भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला कानपुर में खेला जा रहा है। टीम इंडिया की तरफ से श्रेयस अय्यर ने डेब्यू मैच में सेंचुरी जड़ी। अय्यर ने कहा कि टेस्ट डेब्यू में शतक जड़कर उन्होंने अपने कोच प्रवीण आमरे को घर पर डिनर के लिए न्योता देने का अधिकार हासिल कर लिया है क्योंकि वह पूर्व भारतीय खिलाड़ी द्वारा उनके सामने रखी गई शर्त को पूरी करने में सफल रहे हैं। अय्यर के डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ने से काफी समय पहले आमरे ने उनसे कहा था कि वह तभी उनके घर डिनर के लिये आएंगे, जब वह टेस्ट शतक लगा लेंगे।

 न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरुआती टेस्ट के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद अय्यर ने कहा, 'इसलिए आज के मैच के बाद (मैच नहीं) बल्कि आज के शतक के बाद मैं उन्हें संदेश भेजूंगा और उन्हें डिनर के लिए न्योता दूंगा।' अय्यर अपने टेस्ट डेब्यू में शतक जड़ने वाले 16वें भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। आमरे ने भी अपने टेस्ट डेब्यू में शतक जड़ा था जो उन्होंने 1992 में दक्षिण अफ्रीका में बनाया था। वह अय्यर को कोचिंग दे रहे हैं।

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने विराट कोहली को बताया इस युग का बेस्ट बल्लेबाज

अय्यर ने 'वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस' में कहा,'जब भी मैं ट्रेनिंग के लिए जाता हूं, तो प्रवीण सर कहते रहते हैं कि तुमने जिंदगी में काफी कुछ हासिल कर लिया है, तुम आईपीएल टीम की कप्तानी कर चुके हो, तुम इतने सारे रन बना चुके हो, ये कर चुके हो, वो कर चुके हो, लेकिन तुम्हारी मुख्य उपलब्धि तभी होगी जब तुम टेस्ट कैप हासिल करोगे और मुझे पूरा भरोसा है कि जब मुझे यह कैप मिली थी तो उन्हें काफी खुशी हुई होगी।'     

उन्हें यह भी लगता है कि सभी शुभकामना भरे संदेशों को देखकर उन्हें अपने खेलने के शुरूआती दिन याद आ गए। अय्यर ने कहा,'मुझे नहीं लगा कि मैंने मौका गंवा दिया है, लेकिन मैं इसे इस तरह सोचता हूं कि मुझे मौका ही नहीं मिला। क्योंकि मैं चोटिल था, लेकिन मैं अच्छी स्थिति में था और अंडर-19 में भी मैं काफी आत्मविश्वास से भरा हुआ था।' अब मुझे टेस्ट में मौका मिला और पहले में ही मैंने शतक जड़ दिया और इसका अहसास अलग है, मैं इसे बयां नहीं कर सकता।'

नीदरलैंड ने साउथ अफ्रीका का दौरा बीच में छोड़ने का लिया फैसला, जानिए क्या है वजह

उन्होंने कहा कि मुझे काफी संदेश मिले और सभी में यही था कि यह एक उपलब्धि है और आप अपने जीवन में जो हासिल करते हो, उसमें यह सर्वश्रेष्ठ चीज है। इससे मुझे मुंबई में क्रिकेट दिनों की याद आ गई। यह अच्छा अहसास है।

epaper

संबंधित खबरें