DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटIND vs NZ: श्रेयस अय्यर के टेस्ट में डेब्यू पर उनके पिता ने किया खुलासा, क्यों 4 साल तक नहीं बदली अपनी Whatsapp डीपी

IND vs NZ: श्रेयस अय्यर के टेस्ट में डेब्यू पर उनके पिता ने किया खुलासा, क्यों 4 साल तक नहीं बदली अपनी Whatsapp डीपी

एजेंसी,नई दिल्लीHemraj Chauhan
Thu, 25 Nov 2021 10:52 PM
IND vs NZ: श्रेयस अय्यर के टेस्ट में डेब्यू पर उनके पिता ने किया खुलासा, क्यों  4 साल तक नहीं बदली अपनी Whatsapp डीपी

भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट आज से शुरू हो गया है। भारत ने पहले दिन का खेल समाप्त होने तक 84 ओवर में चार विकेट पर 258 रन बनाए। श्रेयस अय्यर ने अपने डेब्यू मैच में 75 रन बनाकर नाबाद रहे। श्रेयस अय्यर के पिता संतोष ने अपनी वाट्सअप डीपी पिछले चार साल से नहीं बदलाी है, जिसमें उनके बेटे ने हाथ में 2017 बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी थाम रखी है। इसका कारण यह है कि वह हमेशा से अपने बेटे को टेस्ट क्रिकेट खेलते देखना चाहते थे। उनका सपना  गुरूवार को पूरा हुआ जब श्रेयस ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। 
    
अय्यर ने नाबाद फिफ्टी जड़करअपने पहले टेस्ट को यादगार बना दिया। पहले दिन का खेल समाप्त होने के बाद उनके पिता ने पीटीआई से कहा ,'यह डीपी मेरे दिल के करीब है। जब वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में खेल रहा था तब विराट कोहली के स्टैंडबाय के रूप में टीम में था।' उस समय मैच जीतने के बाद उसे ट्रॉफी दी। उसने वह ट्रॉफी थाम रखी है और वह पल मेरे लिये अनमोल है।' उन्होंने आगे कहा कि मैं इंतजार कर रहा था कि श्रेयस भारत के लिए टेस्ट खेलेगा। जब अजिंक्य रहाणे ने कहा कि वह खेल रहा है तो वह मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था। आईपीएल, वनडे या किसी भी फॉर्मेट से बढकर मेरे लियए टेस्ट क्रिकेट है।'

टी-20 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान मैच ने रचा इतिहास, सबसे ज्यादा देखे जाने वाला मुकाबला बना
     
श्रेयस को टेस्ट कैप सुनील गावस्कर से मिली जो उनके पिता के लिये गर्व का पल था। उन्होंने कहा ,'सुनील गावस्कर मेरे पसंदीदा क्रिकेटरों में से एक हैं और यह गर्व का पल था। मेरे पास अपनी खुशी जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं।'

IND vs NZ: श्रेयस अय्यर के टेस्ट में डेब्यू पर उनके पिता ने किया खुलासा, क्यों  4 साल तक नहीं बदली अपनी Whatsapp डीपी
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें