फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटIND vs ENG : पहली गेंद से स्पिनरों को मदद मिलेगी तो भी शिकायत नहीं करेंगे, इंग्लैंड के उप कप्तान ओली पोप पिच को लेकर बोले

IND vs ENG : पहली गेंद से स्पिनरों को मदद मिलेगी तो भी शिकायत नहीं करेंगे, इंग्लैंड के उप कप्तान ओली पोप पिच को लेकर बोले

भारत और इंग्लैंड के बीच 25 जनवरी से पांच मैच की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। इस सीरीज के शुरू होने से पहले पिच को लेकर बहस शुरू हो गई है। हालांकि ओली पोप ने कहा कि टीम शिकायत नहीं करेगी।

IND vs ENG : पहली गेंद से स्पिनरों को मदद मिलेगी तो भी शिकायत नहीं करेंगे, इंग्लैंड के उप कप्तान ओली पोप पिच को लेकर बोले
Himanshu Singhएजेंसी,लंदनSat, 13 Jan 2024 09:24 PM
ऐप पर पढ़ें

इंग्लैंड के उप-कप्तान ओली पोप ने कहा कि भारत के खिलाफ 25 जनवरी से शुरू होने वाली पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के दौरान अगर पहली गेंद से ही स्पिनरों को मदद मिले तो भी उनकी टीम पिच की शिकायत नहीं करेगी। पोप ने माना कि पिच तैयार करने की जिम्मेदारी मेजबान देश की होती है और इसमें कोई शिकायत नहीं होनी चाहिए कि यह उनके (मेजबान देश) खिलाड़ियों के अनुकूल हो।

मध्यक्रम के इस 26 साल के खिलाड़ी ने हालांकि माना कि इस दौरे के दौरान पिच की काफी चर्चा होगी। 'द गार्जियन' ने पोप के हवाले से कहा, ''इस दौरे के दौरान बाहर बहुत तरह की बाते होंगी। पिचों को लेकर खासकर काफी चर्चा होगी। आपको यह याद रखना होगा कि दोनों टीमें बिल्कुल एक ही पिच पर खेलेंगी। इसलिए हमें जितना हो सके उतना बेहतर तैयारी के साथ मैदान पर उतरना होगा।''

टेस्ट श्रृंखला से पहले इंग्लैंड की टीम के अभ्यास शिविर के लिए अबू धाबी रवाना होने से पहले पोप ने कहा, ''इंग्लैंड में, हम अपने बेहतरीन तेज गेंदबाजों के अनुकूल पिच पर अधिक घास छोड़ सकते हैं, इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है अगर भारत भी अपने स्पिनरों के अनुरूप पिच तैयार करेगा।''

पोप ने 2018 में पदार्पण करने के बाद 28 टेस्ट मैचों में 2136 रन बनाए है। वह तीन साल पहले भारत दौरे पर आने वाली इंग्लैंड टीम के सदस्य थे। इस दौरान वह अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे थे। पोप चार बार 20 रन से ज्यादा बनाए थे लेकिन उनका सर्वोच्च स्कोर महज 34 रन था।

युवराज सिंह करना चाहते हैं टीम इंडिया में वापसी, भारत को खिताब दिलाने में निभा सकते हैं बड़ी भूमिका

उन्होंने पिछले दौरे को याद करते हुए कहा, ''उस दौरे पर हमारे साथ कुछ युवा खिलाड़ी थे। मेरा, जाक क्राउली, बेन फॉक्स का वह भारत का पहला दौरा था। पहली गेंद से पिच से स्पिनरों को काफी टर्न मिल रही थी और यह हमारे लिए आश्चर्यजनक था।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें