फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटIND vs ENG: इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट टेस्ट में ब्लैक आर्मबैंड पहनकर उतरी टीम इंडिया, जानें क्या है वजह

IND vs ENG: इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट टेस्ट में ब्लैक आर्मबैंड पहनकर उतरी टीम इंडिया, जानें क्या है वजह

बीसीसीआई ने एक्स पर लिखा, 'भारत के पूर्व कप्तान और भारत के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर दत्ताजीराव गायकवाड़ की याद में टीम इंडिया काली पट्टी पहनेगी, जिनका हाल ही में निधन हुआ था।'

IND vs ENG: इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट टेस्ट में ब्लैक आर्मबैंड पहनकर उतरी टीम इंडिया, जानें क्या है वजह
Lokesh Kheraलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 17 Feb 2024 10:08 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 मैच की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला राजकोट में खेला जा रहा है। इस मुकाबले के तीसरे दिन भारतीय टीम ब्लैक आर्मबैंड पहनकर मैदान पर उतरी है। यह ब्लैक आर्मबैंड टीम ने पूर्व भारतीय कप्तान दत्ताजीराव गायकवाड़ की याद में पहना है जिनका हाल ही में निधन हुआ था। इसी महीने 13 तारीख को उनका निधन 95 साल की उम्र में हुआ था। वे भारत के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर थे। बीसीसीआई ने टीम इंडिया के ब्लैक आर्मबैंड पहनने की जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी।

इंडिया वर्सेस इंग्लैंड लाइव स्कोर यहां देखें

बीसीसीआई ने एक्स पर लिखा, 'भारत के पूर्व कप्तान और भारत के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर दत्ताजीराव गायकवाड़ की याद में टीम इंडिया काली पट्टी पहनेगी, जिनका हाल ही में निधन हुआ था।'

खिलाड़ियों को BCCI की फाइनल वॉर्निंग, रणजी ट्रॉफी छोड़ी तो भुगतने होंगे परिणाम

इंग्लैंड के दौरे पर उनको भारतीय टीम का नेतृत्व करने का मौका मिला था। हालांकि, करियर में सिर्फ 11 टेस्ट मैच ही उनको खेलने का मौका मिला, क्योंकि उन दिनों इतने ज्यादा टेस्ट मैच नहीं होते थे, क्योंकि बहुत कम देश ही इस खेल में रुचि लेते थे। यही कारण था कि इसे जेंटलमैन्स का गेम कहा जाता था।

युवराज सिंह के घर में हुई चोरी, गायब हुआ कैश और ज्वैलरी; मां ने इन पर जताया संदेह

दत्ता गायकवाड़ ने 5 जून 1952 को अपना टेस्ट डेब्यू इंग्लैंड के खिलाफ किया था और आखिरी टेस्ट मैच उन्होंने 13 जनवरी 1961 को पाकिस्तान के खिलाफ चेन्नई में खेला। करीब 9 साल में उन्होंने सिर्फ 11 टेस्ट मैच ही खेले। इन 11 टेस्ट मैचों में उन्होंने सिर्फ एक अर्धशतक जड़ा। कुल 35 रन उनके बल्ले से निकले। हालांकि, फर्स्ट क्लाक क्रिकेट में उनको 110 मैचों का अनुभव था। वे 17 शतक और 23 अर्धशतकों के साथ कुल 5788 रन प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बनाने में सफल हुए थे। कभी-कभार वे गेंदबाजी भी करते थे और बतौर गेंदबाज 25 विकेट निकालने में सफल हुए थे। 

बात मुकाबले की करें तो, भारत के 445 रनों के आगे इंग्लैंड ने खबर लिखे जाने तक 4 विकेट गंवाकर 226 रन बना लिए हैं। इंग्लिश टीम को तीन झटके जैक क्रॉली और ओली पोप के रूप में दूसरे दिन लगे थे, वहीं तीसरे दिन की शुरुआत में टीम इंडिया ने जो रूट और जॉनी बेयरस्टो को आउट कर बैकफुट पर धकेलने की कोशिश की है। 

हालांकि क्रीज पर बेन डकेट जमे हुए हैं। वह 150 रन के करीब है। मैच के दूसरे दिन उन्होंने 88 गेंदों पर शतक जड़ भारत पर दबाव डाल दिया था। भारत के लिए उनका विकेट काफी महत्वपूर्ण होने वाला है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें