फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटटॉम हार्टली और शोएब बशीर की जोड़ी कैसे हुई कामयाब?, अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने की जमकर तारीफ

टॉम हार्टली और शोएब बशीर की जोड़ी कैसे हुई कामयाब?, अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने की जमकर तारीफ

अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने टॉम हार्टली और शोएब बशीर के प्रदर्शन की जमकर तारीफ की है। इस जोड़ी ने चौथे टेस्ट के दूसरे दिन लगातार गेंदबाजी की, जिससे भारतीय टीम ने उम्मीद से ज्यादा विकेट गंवा दिए।

टॉम हार्टली और शोएब बशीर की जोड़ी कैसे हुई कामयाब?, अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने की जमकर तारीफ
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 24 Feb 2024 08:41 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ रांची में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन पहली पारी में सात विकेट गंवाकर दबाव में है। भारत ने इंग्लैंड के पहली पारी के 353 रन के जवाब में दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक सात विकेट पर 219 रन बनाए। इस तरह से भारत अभी इंग्लैंड से 134 रन पीछे है। भारत के पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने इंग्लैंड के स्पिनर हार्टली और बशीर के प्रदर्शन की तारीफ की है। कुंबले ने स्टोक्स की कप्तानी की भी सराहना की।

अनिल कुंबले और आरपी सिंह ने इंग्लिश स्पिनरों टॉम हार्टले और शोएब बशीर के प्रदर्शन का विश्लेषण किया, जिन्होंने साथ मिलकर 6 विकेट लिए। अनिल कुंबले ने जियो सिनेमा पर कहा, ''वह (शोएब बशीर) जिस लाइन के साथ गेंदबाजी कर रहा है उससे वह बहुत प्रभावशाली रहा है। बतौर ऑफ स्पिनर उसने गेंद दाएं के बल्लेबाजों से थोड़ा दूर रखा। बहुत कम गेंदबाज दाएं हाथ के बल्लेबाजों को ओवर द स्टंप गेंदबाजी करते हैं। लेकिन उसने लगातार किया। इस सतह पर, उसने गति अच्छी रखी और और लेंथ भी। नब्बे प्रतिशत उसने एक ही एरिए में गेंदबाजी की है। 

कुंबले ने हार्टली और बशीर की जोड़ी द्वारा भारतीय बल्लेबाजों पर दबाव बनाए जाने पर कहा, ''एक चौथा टेस्ट और दूसरा अपना दूसरा टेस्ट खेल रहा है, इस लिहाज से यह दो स्पिनरों (शोएब बशीर और टॉम हार्टले) का शानदार प्रयास रहा है। मुझे लगा कि हार्टले ने वास्तव में अच्छा खेला - बेन स्टोक्स ने वास्तव में कुछ दिलचस्प फील्डिंग में बदलाव किए, जिससे भारतीय बल्लेबाजों को एक रन बनाने का मौका नहीं मिला और यही कारण था कि सरफराज को रन बनाने के लिए अलग तरीका अपनाना पड़ा। 

आरपी सिंह ने कहा, ''गेम तब बदला जब बशीर जायसवाल के खिलाफ राउंड द विकेट आए। उनकी गेंदबाजी की अच्छी बात ये रही कि उन्होंने ज्यादा ट्राई नहीं किया। वह प्लान के साथ गेंदबाजी कर रहे थे। ऑफ स्टंप के बाहर गेंद को पिच करा रहे थे और गेंद को स्ंटप में रखने की कोशिश कर रहे थे। 

'भारत को विराट कोहली की कमी खल रही है', जानिए संजय मांजरेकर और दिनेश कार्तिक ने ऐसा क्यों कहा

उन्होंने आगे कहा, ''वह ऑफ स्टंप चैनल पर अच्छी लेंथ पर गेंदबाजी करते रहे, जो बहुत महत्वपूर्ण था। आम तौर पर, नए गेंदबाजों के लिए एक ही चैनल पर गेंदबाजी करते रहना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि वे विकेट नहीं मिलने पर नई चीजों को आजमाने के लिए उत्साहित हो जाते हैं, लेकिन बशीर ने धैर्य बनाए रखा, सही जगह पर गेंदबाजी करते रहे और यही तो टेस्ट क्रिकेट है।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें