फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटIND vs AUS: 13 गेंद पर खास पचासा ठोक भी क्यों ऋतुराज गायकवाड़ नहीं तोड़ पाए युवराज सिंह का रिकॉर्ड

IND vs AUS: 13 गेंद पर खास पचासा ठोक भी क्यों ऋतुराज गायकवाड़ नहीं तोड़ पाए युवराज सिंह का रिकॉर्ड

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में आखिरी के तीन ओवरों में पचासा ठोक डाला। एक खास मामले में वह युवराज सिंह का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए।

IND vs AUS: 13 गेंद पर खास पचासा ठोक भी क्यों ऋतुराज गायकवाड़ नहीं तोड़ पाए युवराज सिंह का रिकॉर्ड
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 29 Nov 2023 03:05 PM
ऐप पर पढ़ें

टी20 इंटरनेशनल मैच में आखिरी के तीन ओवरों में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड युवराज सिंह के नाम दर्ज है। युवराज सिंह ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी तीन ओवरों में 54 रन बनाए थे। युवी को इस दौरान 14 गेंद खेलने को मिली थीं और उन्होंने 54 रन ठोक डाले थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के तीसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ ने आखिरी तीन ओवरों में 13 गेंदों का सामना किया और 52 रन ठोके। वह इस मामले में युवराज सिंह से थोड़ा सा पीछे रह गए, हालांकि यहां उन्हें युवी से एक गेंद भी कम खेलने को मिली थी। गायकवाड़ को अगर एक गेंद और खेलने को मिल जाती, तो वह युवराज सिंह का यह सालों पुराना रिकॉर्ड तोड़ सकते थे। 

इसे भी पढ़ेंः जिनके चलते बेकार हुआ शतक, उन गेंदबाजों के बचाव में उतरे गायकवाड़

2007 टी20 वर्ल्ड कप का यह वही मैच है, जिसमें युवराज सिंह ने स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्के लगाए थे। गायकवाड़ की बात करें तो उन्होंने 13 गेंदों पर छह छक्के और चार चौके लगाए थे। ऋतुराज गायकवाड़ ने इस मैच में 57 गेंदों पर नॉटआउट 123 रन बनाए थे। इस दौरान गायकवाड़ ने कुल 13 चौके और सात छक्के लगाए। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 20 ओवर में 223 रनों का लक्ष्य रखा था, और ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवर में पांच विकेट पर 225 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया।

T20 विश्व कप के बाद इस देश के दौरा करेगी टीम इंडिया, खेले जाएंगे 6 मैच

ग्लेन मैक्सवेल ने 48 गेंदों पर नॉटआउट 104 रनों की पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया को ये अप्रत्याशित जीत दिलाई। गुवाहाटी में खेले गए मैच में ओस ने भी अहम भूमिका निभाई। दूसरी पारी में गेंदबाजी करना काफी मुश्किल हो गया था और इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई कप्तान मैथ्यू वेड और ग्लेन मैक्सवेल ने मिलकर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। भारत ने सीरीज के पहले दो मैच जीते थे और सीरीज में अभी भी 2-1 से आगे है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें