DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: 'अपने हाथ में 14 जुलाई को विश्व कप उठाना चाहता हूं'

ICC World Cup 2019: हार्दिक पांड्या ने याद किया कि विश्व कप 2011 की जीत के बाद उन्होंने कैसे जश्न मनाया था और तब उन्होंने देश की तरफ से खेलने का सपना देखा था।

hardik pandya  virat kohli  afp

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या 14 जुलाई को लदंन स्थित लॉर्ड्स स्टेडियम में विश्व कप (ICC World Cup 2019) की ट्रॉफी अपने हाथ में उठाने की इच्छा रखते हैं। भारत के कप्तान कपिल देव ने 1983 में लॉर्ड्स की बालकनी में ही विश्व कप की ट्रॉफी उठाई थी। भारत के विश्व कप अभियान में पांड्या एक बड़े खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। 

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की आधिकारिक वेबसाइट ने पांड्या के हवाले से बताया, “मेरे लिए भारत की ओर से खेलना सबकुछ है। यह मेरी जिंदगी है। मैं इस खेल को प्यार एवं जुनून से खेलता हूं। मुझे चुनौतियां पसंद हैं। तीन साल से मैं इस विश्व कप के लिए तैयारी कर रहा था और अब समय आ गया है कि मैं 14 जुलाई को विश्व कप ट्रॉफी अपने हाथ में उठाऊं।”

गूगल CEO सुंदर पिचाई की भविष्यवाणी, इन टीमों के बीच होगा वर्ल्ड कप फाइनल

उन्होंने कहा कि उन्हें वो दिन भी याद है जब 2011 में मुंबई में दो अप्रैल को भारत ने श्रीलंका को मात देकर विश्व कप जीता था।  पांड्या ने कहा, “जुलाई 14 को मैं विश्व कप को अपने हाथों में चाहता हूं। जब मैं उसके (2011 की जीत) बारे में सोचता हूं तो मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं। विश्व कप 2019 में खेलना मेरा, मेरे साथियों और भाइयों को सपना रहा है। मेरी योजना सीधी सी है, विश्व कप जीतना और मुझे उम्मीद है कि मैं ऐसा कर पाऊंगा।”

इस क्रिकेटर ने कहा कि अपने करियर के दौरान उन्हें जिन संघर्ष से गुजरना पड़ा उनसे उन्हें यह सीख मिली कि परिस्थिति कैसी भी हो हमेशा खुश रहना है। हार्दिक ने कहा, ''मैं हमेशा खुश रहता हूं। मैं खुश रहना पसंद करता हूं भले ही मेरी जिंदगी में कुछ भी हो रहा हूं। मैं और मेरा भाई (क्रुणाल) आपस में बात कर रहे थे और उसने कहा कि हम दोनों भाई हमेशा खुश रहते हैं।'' उन्होंने कहा, ''क्योंकि जहां से हम आये हैं हमारे लिए हर चीज बोनस की तरह है।''

धवन की चोट से बढ़ीं टीम इंडिया की मुश्किलों पर क्या है दिग्गज हर्षा भोगले की राय?

हार्दिक ने याद किया कि विश्व कप 2011 की जीत के बाद उन्होंने कैसे जश्न मनाया था और तब उन्होंने देश की तरफ से खेलने का सपना देखा था। उन्होंने कहा, ''कुछ दिन पहले मेरे एक मित्र ने मुझे एक तस्वीर भेजी थी और पूछा था क्या तुम्हें इसकी याद है, मैंने कहा, 'हां जरूर।'' 

हार्दिक ने कहा, ''उसने भारतीय टीम की विश्व कप 2011 में जीत का जश्न मनाते हुए हमारी तस्वीर खींची थी। हम गली में निकल गए थे क्योंकि वह त्योहार बन गया था। मैंने एक रात में इतने अधिक लोगों को बाहर नहीं देखा था। इससे मैं वास्तव में भावुक हो गया था।''   उन्होंने कहा, ''आठ साल बाद मैं विश्व कप 2019 में खेल रहा हूं। यह एक सपना था और टीम के मेरे साथी मेरे भाई जैसे हैं।''

उन्होंने मजाक करते हुए कहा कि टीम पर खिताब जीतने का कोई दबाव नहीं है क्योंकि केवल 1.5 अरब लोग की चाहते हैं कि भारत विश्व कप जीते। पांड्या ने कहा, “कोई दबाव नहीं है क्योंकि केवल 1.5 अरब लोग ही ऐसा चाहते हैं। इसलिए हम पर किसी प्रकार का दबाव नहीं है।”

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ICC World Cup 2019 On 14th July I want to have a Cup in my hand says Hardik Pandya