DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CWC 2019: बड़ी दिक्कतों से पार के बाद ही होगा टीम इंडिया का बेड़ापार

भारतीय टीम प्रबंधन को महेंद्र सिंह धौनी का विकल्प भी तलाशना होगा जो मैच फिनिशर साबित हो सके। चूंकि धौनी का करियर अब अंतिम पड़ाव पर है तो जल्द से जल्द टीम को उनकी भरपाई करनी होगी।

virat kohli  action images via reuters

ICC World Cup 2019:  विश्व कप के सेमीफाइनल में हार के बाद भारतीय टीम के प्रदर्शन की समीक्षा हो रही है। टूर्नामेंट में कुछ सकारात्मक पहलू भी रहे, पर बड़ी दिक्कतों से निजात के बाद ही टीम का बेड़ापार होगा।

शीर्षक्रम में निरंतरता नहीं 
भारतीय टीम के शीर्षक्रम बल्लेबाजों को बड़े मैचों में अच्छे प्रदर्शन की जरूरत है। चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भी शीर्ष तीन बल्लेबाज पाक के खिलाफ 50 रन से पहले पवेलियन लौट गए थे। न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में भी कुछ यही हाल रहा। जहां लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम के तीन बल्लेबाज रोहित, राहुल और कोहली सिर्फ पांच रन तक पवेलियन लौट गए।

World Cup 2019 Final में पहुंचकर भी निराश हैं मार्टिल गप्टिल, जानें क्यों

नंबर चार का समाधान 
पिछले कुछ सालों से नंबर चार पर भारतीय टीम को अभी तक कोई स्थायी बल्लेबाज नहीं मिला है। 2015 विश्व कप के बाद से इस नंबर पर टीम करीब 11 बल्लेबाजों को आजमा चुकी है। विश्व कप में भी कई बल्लेबाजों को उतारा गया लेकिन कोई भी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा।

धौनी का विकल्प कौन?
भारतीय टीम प्रबंधन को महेंद्र सिंह धौनी का विकल्प भी तलाशना होगा जो मैच फिनिशर साबित हो सके। चूंकि धौनी का करियर अब अंतिम पड़ाव पर है तो जल्द से जल्द टीम को उनकी भरपाई करनी होगी।

मजबूत गेंदबाजी दल 
विश्व कप में भारतीय टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत दिखा। भुवनेश्वर कुमार के चोटिल होने के बाद खिलाए गए मोहम्मद शमी भी उम्मीदों पर खरे उतरे। टीम में वापसी करने पर भुवनेश्वर ने भी अच्छी गेंदबाजी की। जसप्रीत बुमराह का प्रदर्शन भी उम्दा रहा। स्पिन गेंदबाज युज्वेंद्रा चाहल और कुलदीप यादव युवा हैं। कुल मिलाकर उनका प्रदर्शन संतोषजनक रहा।

ऑलराउंडर ठीकठाक रहे
तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने गेंद और बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। जरूरत पड़ने पर टीम में शामिल किए गए स्पिन ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने भी चमक बिखेरी। ऐसे में भविष्य के लिए अच्छे विकल्प हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री का दावा- क्रिकेट से संन्यास के बाद BJP में शामिल हो सकते हैं एमएस धौनी

भविष्य का सितारा : ऋषभ पंत
युवा ऋषभ पंत भारतीय टीम का भविष्य हैं। उन्हें धौनी का विकल्प भी माना जा रहा है। पंत को विश्व कप में नंबर चार पर उतारा गया। वह कुछ हद तक उम्मीदों पर भी खरे भी उतरे। हालांकि पंत की गलत शॉट चयन को लेकर आलोचना भी हुई लेकिन पूर्व दिगग्जों का मानना है कि वक्त के साथ वह परिपक्व होंगे और मध्यक्रम को मजबूती देंगे। 

अफगान टीम से भी धीमे 
भारतीय टीम ने भले ही शुरुआती 10 ओवरों में कम विकेट गंवाए लेकिन 2015 विश्व कप के मुकाबले उसकी बल्लेबाजी काफी धीमी रही। इस बार शुरू के 10 ओवरों में भारतीय टीम ने सबसे कम आक्रामक शॉट लगाए। इस मामले में वह अफगानिस्तान से भी नीचे रही।

टीम- फीसदी
इंग्लैंड- 41
पाकिस्तान- 39
दक्षिण अफ्रीका- 38
श्रीलंका- 37
बांग्लादेश- 37
ऑस्ट्रेलिया- 37
न्यूजीलैंड- 36
अफगानिस्तान- 36
वेस्टइंडीज- 34
भारत- 32

INDvsNZ: रोहित शर्मा ने सेमीफाइनल में हार के दो दिन बाद बयां किया दर्द, पढ़कर आंखें हो जाएंगी नम

सीओए समीक्षा करेगी 
सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) विश्व कप में भारत के प्रदर्शन की कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के साथ समीक्षा करेगी। साथ ही, सीओए अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप के लिए खाका तैयार करेगी। विनोद राय की अध्यक्षता वाली समिति प्रमुख चयनकर्ता एमएसके प्रसाद से भी बात करेगी। विनोद राय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। समिति में डायना एडुल्जी और लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) रवि थोडगे भी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ICC World Cup 2019 india must work on these weaknesses after new zealand beat india in semi final