DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

World Cup 2019: पिछले 4 सालों में नंबर 4 के लिए हुए कई एक्सपेरिमेंट, लेकिन नहीं हुआ समाधान

ICC World Cup 2019: भारत ने विश्व कप 2015 के बाद जिन बल्लेबाजों को चौथे नंबर पर आजमाया है, उनमें से सर्वाधिक 14 मैच अंबाती रायडू ने खेले हैं।

Ambati Rayudu (PTI)

आईसीसी वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2019) शुरू होने में अब जबकि केवल ढाई महीने का समय बचा है। जिस तरह की परिस्थितियां नजर आ रही है, उसे देखकर लगता है कि भारतीय टीम प्रबंधन बल्लेबाजी लाइनअप में सबसे महत्वपूर्ण चौथे स्थान को लेकर असंमजस में है, क्योंकि पिछले चार साल में उसने जिन 11 बल्लेबाजों को (ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांचवें वनडे से पूर्व) इस स्थान पर आजमाया वे अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे।

भारत विश्व कप से पहले अपना आखिरी मैच खेलने के लिए फिरोजशाह कोटला मैदान पर उतरा तो उसने चौथे नंबर पर एक नए बल्लेबाज को आजमाना उचित समझा। भारत मैच में चार विशेषज्ञ बल्लेबाजों के साथ उतरा, लेकिन इनमें विकेटकीपर ऋषभ पंत भी शामिल हैं। विजय शंकर की बल्लेबाजी में लगातार सुधार के बाद अब टीम प्रबंधन ने इस ऑलराउंडर पर चौथे नंबर के बल्लेबाज के रूप में भरोसा जताया है।    

icc world cup 2019: भारत और इंग्लैंड सबसे बड़े दावेदार, जानिए किस टीम में है कितना दम    

सबसे ज्यादा नंबर 4 पर खेले हैं अंबाती रायडू 
भारत ने विश्व कप 2015 के बाद जिन बल्लेबाजों को चौथे नंबर पर आजमाया है, उनमें से सर्वाधिक 14 मैच अंबाती रायडू ने खेले हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से पहले रायडू की नंबर चार पर जगह पक्की लग रही थी लेकिन पहले तीन मैचों में वह केवल 33 रन बना पाये और टीम प्रबंधन ने 30 मई से ब्रिटेन में शुरू होने वाले विश्व कप से पहले के आखिरी दो मैचों में इस नंबर पर किसी अन्य खिलाड़ी को आजमाने का फैसला किया।

कोहली भी नंबर 4 पर रहे फ्लॉप
मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में केएल राहुल को मौका देने के कारण कोहली चौथे नंबर पर उतरे। यह पिछले चार वर्षों में तीसरा मौका था, जबकि कोहली चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और इन तीन मैचों में वह केवल 30 रन बना पाए। स्पष्ट है कि भारतीय कप्तान को सीमित ओवरों में चौथा नंबर रास नहीं आता और उन्हें तीसरे नंबर पर ही बल्लेबाजी करना भाता है। 

धौनी पिछले 4 साल में 12 बार उतरे नंबर 4 पर
अंबाती रायडू ऑस्ट्रेलियाई सीरीज से पहले चौथे नंबर पर अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने पिछले विश्व कप के बाद इस नंबर पर 14 मैचों में 42.18 की औसत से 464 रन बनाए। रायडू के बाद अगर किसी अन्य बल्लेबाज के लिए यह स्थान आदर्श माना जा रहा था तो वह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी थे। धौनी पिछले चार साल में 12 मैचों में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे, जिसमें उन्होंने 40.72 की औसत से 448 रन बनाए लेकिन उनका स्ट्राइक रेट 76.84 रहा। 

शेन वॉर्न का भरोसा, स्मिथ-वॉर्नर के साथ ऑस्ट्रेलिया जीत सकता है वर्ल्ड कप

रहाणे की दावेदारी हुई खत्म
अंजिक्य रहाणे भले ही भारतीय वनडे टीम का सदस्य नहीं हैं, लेकिन एक समय वह भी चौथे नंबर पर उतरने के दावेदार थे। अब भी उनकी दावेदारी को एकदम से दरकिनार नहीं किया जा सकता है। रहाणे ने विश्व कप 2015 के बाद इस नंबर पर 10 मैच खेले, जिसमें 46.66 की औसत से 420 रन बनाये। उनका स्ट्राइक रेट भी 92.71 रहा। 

दिनेश कार्तिक को लेकर है असमंजस
दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे और युवराज सिंह भी पिछले चार वर्षों में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। युवराज और पांडे ने इस नंबर पर एक एक शतक भी जमाया लेकिन अन्य मैचों में वे प्रभावित नहीं कर पाये। कार्तिक को दूसरे विकेटकीपर के रूप में वर्तमान सीरीज के लिए टीम में जगह नहीं मिली, जिससे उनकी विश्व कप टीम में जगह को लेकर अनिश्चितता बन गई है। कार्तिक ने पिछले चार वर्षों में चौथे नंबर पर नौ मैचों में 264 रन बनाए। 

महेंद्र सिंह धौनी किस नंबर पर करें बल्लेबाजी? सुरेश रैना की है ये राय

राहुल-जाधव ने नंबर 4 पर किया निराश
केएल राहुल (चार मैच में 26 रन) और केदार जाधव (चार मैच में 18 रन) ने चौथे नंबर पर सबसे अधिक निराश किया। हार्दिक पंड्या को पांच मैचों में चौथे नंबर पर उतारा गया, लेकिन वह भी एक पारी (78 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, इंदौर 2017) को छोड़कर कुछ कमाल नहीं कर पाए। ऐसे हालात में अब यह देखना दिलचस्प होगा कि विश्व कप 2019 में भारतीय बल्लेबाजी लाइनअप के लिए सिरदर्द बना चौथा स्थान कौन संभालता है, रायडू, धौनी, विजय शंकर या कोई और।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:icc world cup 2019 batting at number 4 team india still struggling