फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटहर्षल पटेल को पसंद है दबाव में गेंदबाजी करना, बोले- मैं उन परिस्थितियों में रहना चाहता हूं

हर्षल पटेल को पसंद है दबाव में गेंदबाजी करना, बोले- मैं उन परिस्थितियों में रहना चाहता हूं

हर्षल पटेल ने आईपीएल 2022 के एलिमिनेटर मैच में लखनऊ सुपर जाएंट्स के खिलाफ शानदार गेंदबाजी की और वे टीम के लिए सफल गेंदबाज बनकर उभरे। जहां अन्य गेंदबाज 10 रन प्रति ओवर की गति से रन लुटा रहे थे।

हर्षल पटेल को पसंद है दबाव में गेंदबाजी करना, बोले- मैं उन परिस्थितियों में रहना चाहता हूं
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 26 May 2022 08:38 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ सुपर जाएंट्स को हराकर आईपीएल 2022 के क्वालीफायर 2 का टिकट कटाने वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए बल्लेबाजी में रजत पाटीदार और गेंदबाजी में हर्षल पटेल हीरो बनकर उभरे। पाटीदार ने जहां शतक जड़ा। वहीं, हर्षल पटेल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में 25 रन दिए और एक विकेट अपने नाम किया। इन्हीं के बदौलत आरसीबी ने 14 रन से जीत दर्ज की।  

मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में हर्षल पटेल ने बताया कि उन्हें दबाव में गेंदबाजी करना पसंद है, जबकि इस गेंदबाज ने रजत पाटीदार की तारीफ की, जिन्होंने एलिमिनेटर मैच में शतक जड़ा। इससे पहले आईपीएल 2021 में वे 71 रन ही बना सके थे। इस वजह से वे आईपीएल 2022 में अनसोल्ड रहे, लेकिन लुवनिथ सिसोदिया के चोटिल होने के कारण उनको रिप्लेसमेंट के तौर पर इस सीजन में मौका मिला।  

हर्षल पटेल ने रजत पाटीदार की तारीफ करते हुए कहा, "वह जिस तरह से खेले, मुझे उसके बारे में कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है, हम अभ्यास मैचों में बल्लेबाजी की उनकी क्षमता को देखते रहे हैं। पिछले साल भी जब वह हमारे साथ थे, तो उन्हें कुछ मौके मिले, लेकिन अपनी प्रतिभा के साथ न्याय नहीं कर सके, लेकिन हम जानते थे कि वह एक खास खिलाड़ी हैं।" 

अपनी डेथ गेंदबाजी के बारे में उन्होंने कहा, "सबसे पहले तो मैं ये स्वीकार करूंगा कि हां, मैं नर्वस था, इसमें कोई शक नहीं है। अगर आप 18 गेंदों में 34 रन का बचाव कर रहे हैं, तो आप इससे घबराने वाले हैं, लेकिन मुझे पता था कि जब मैंने बिना गेंद फेंके छह रन दिए तो मुझे पता चला कि वाइड यॉर्कर से काम बनने वाला नहीं है। इसलिए मैंने सोचा कि पहले दो ओवरों में मेरे लिए क्या कारगर रहा, मैं उस पर वापस जाना चाहता हूं और खुद को केएल (राहुल) और स्टोइनिस को आउट करने का सबसे अच्छा मौका देना चाहता हूं। सौभाग्य से मैंने स्टोइनिस को बाउंड्री पर आउट कर दिया।" 

उन्होंने आगे कहा, "जब भी उनकी गेंदबाजी में छोटी या स्लोअर गेंदें फेंकी जाती थीं, तो वह बल्ले पर अच्छी तरह से नहीं आ रही थीं, इसलिए यह एक संकेत था कि मैं छोटी गेंदबाजी करना चाहता हूं और मैं जितनी स्लोअर कर सकता हूं, करूं। इसके बाद आप एक अच्छी यॉर्कर और अच्छी हार्ड लेंथ बॉल के साथ इसे मिलाएं, लेकिन मुझे पता था कि इस तरह के विकेट पर मेरी ज्यादातर गेंदें स्लोअर गेंदें होंगी, क्योंकि जैसे ही आपने गति दी, बल्लेबाजों ने इसका फायदा उठाया।" 

हर्षल पटेल इस तरह की परिस्थितियों में रहना पसंद करते हैं। उन्होंने कहा, "मैं गेंदबाजी कर पाऊंगा या नहीं, मैं वास्तव में नहीं जानता, मैं नहीं कह सकता, लेकिन मैं उन स्थितियों में रहना चाहता हूं, इसमें कोई संदेह नहीं है और मैं पिछले 2-3 सालों से ऐसा करना चाहता हूं, मैं हरियाणा के लिए कर रहा हूं, और मैं इसे बड़े स्तर पर करना चाहता था और मैं खुद को उन हालातों में डालता रहूंगा, कभी वो काम करने वाला है, कभी वो काम नहीं करेगा। ऐसे भी मैच होंगे जहां मैं टीम के लिए सफल नहीं हो पाऊंगा और जब तक मैं चुनौतियों से नहीं शर्माता, तब तक मैं इसके साथ ठीक हूं।" 
 

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।