DA Image
18 जून, 2020|4:25|IST

अगली स्टोरी

शोएब अख्तर ने 14 साल बाद किया खुलासा- पता था सचिन तेंदुलकर की चोट के बारे में इसलिए बाउंसर गेंद फेंकता रहा

sachin tendulkar and shoaib akhtar  instagram

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने 2006 में फैसलाबाद टेस्ट में सचिन तेंदुलकर के खिलाफ आजमाए गए बाउंसर रणनीति को एक बार फिर से याद किया है। इस मैच में सचिन केवल 14 रन ही बना सके थे और अख्तर का शिकार बने थे। अख्तर ने बताया कि वो सचिन की टेनिस एल्बो इंजरी के बारे में जानते थे और इसी वजह से उनके खिलाफ बाउंसर गेंद की रणनीति अपनायी थी। 2006 में भारतीय क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान में तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली थी, जिसे पाकिस्तान ने 1-0 से जीती थी। सीरीज के पहले दो मैच ड्रॉ हुए थे, जिसमें फैसलाबाद टेस्ट भी शामिल था।

श्रीसंत बोले- ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को जान से मारना चाहता था

अख्तर ने क्रिकइंफो के लिए संजय मांजरेकर के साथ जारी बातचीत के दौरान कहा, 'लोग कहते थे कि मैं और सचिन, हमेशा एक-दूसरे से मुकाबला करते थे। लेकिन हमने कभी एक दूसरे के साथ बुरा बतार्व नहीं किया। मैं उन्हें अपने प्रतिस्पर्धी के रूप में देखता था। मैं उन्हें एक महान बल्लेबाज के रूप में सम्मान देता था।' उन्होंने कहा, 'मैं हमेशा सचिन को आउट करने पर काम करता था। मैं जानता था कि सचिन को कहां चोट लगी है। फैसलाबाद टेस्ट में मुझे मालूम था कि सचिन को एल्बो में चोट लगी है और वो हुक और पुल नहीं खेल सकते। ऐसे में मैंने उन्हें लगातार बाउंसर फेंकना जारी रखा।'

भज्जी ने याद किया पुराना किस्सा, जब WC में मिस्बाह ने की थी जमकर धुनाई

'अख्तर की बाउंसर से डर गए थे तेंदुलकर'

इससे पहले, पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ ने उसी सीरीज के बारे में बात हुए कहा था कि मैच के दौरान उनके टीम साथी शोएब अख्तर की तेज गेंदों ने एक बार सचिन तेंदुलकर को इतना डरा दिया था कि उनके बाउंसर्स को देख सचिन ने अपनी आंखें बंद कर ली थीं। उन्होंने कहा था, 'जब मैच शुरू हुआ था तो मैं उस दौरान स्क्वॉयर लेग पर खड़ा था और शोएब अख्तर लगातार तेज गेंदबाजी कर रहे थे। इस बीच मैंने देखा कि एक दो बाउंसर्स पर सचिन ने अपनी आंखें बंद कर ली थीं।' 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:I kept bowling bouncers shoaib akhtar recalls how he troubled sachin tendulkar in 2006 faisalabad test