DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल की बात: गांगुली ने कहा-चैपल को कोच बनाना करियर की सबसे बड़ी गलती

सौरभ गांगुली

कप्तान सौरव गांगुली और टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल के बीच अनबन भारतीय क्रिकेट के सबसे खराब पलों में एक माना जाता है। पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी आने वाली किताब 'ए सेंचुरी इज नॉट इनफ' में लिखा है कि चैपल को कोच बनाना उनके करियर की सबसे बड़ी गलती थी। सौरव गांगुली को 2005 में टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल के द्वारा कप्तानी से हटा दिया गया था।

2005 मेरे जीवन का सबसे बुरा अध्याय रहेगा। न सिर्फ बिना किसी वजह के मेरी कप्तानी छीन ली गई बल्कि एक खिलाड़ी के तौर पर भी मुझे टीम से बाहर कर दिया गया। मुझे यह लिखते हुए भी गुस्सा आ रहा है। जो हुआ मैं उस बारे में सोच भी नहीं सकता। वह अस्वीकार्य था। वह अक्षम्य था। 

दादा बोले- टी-20 के बिना क्रिकेट का खेल नहीं चल सकता

सौरभ के अनुसार, भारतीय क्रिकेट के इतिहास में एक विजेता कप्तान के उदाहरण को इतनी अनौपचारिक रूप से नहीं गिराया गया है। उन्होंने कहा देश में मेरे समर्थकों की संख्या तेजी से बढ़ रही थी। मैं पहले ही एक स्टार था और लोकप्रिय चेहरा था। मेरे बुरे वक्त में मुझे प्रशंकों ने धीरज महसूस कराया। यहां तक ​​कि मीडिया में, जिन लोगों ने मेरी आलोचना की थी वे नियमित रूप से नरम हो गए। अचानक महाराज से मैं निचले दर्जे में शामिल हो गया था।

उन्होंने लिखा, इतिहास में ऐसे मौके ज्यादा नहीं मिलेंगे, जब एक विजयी कप्तान को यूं हटाया गया हो। वह भी तब जब उसने अपनी पिछली सीरीज में सेंचुरी लगाई हो। भारतीय क्रिकेट में इस तरह की और कोई घटना नहीं हुई और मुझे नहीं लगता कि ऐसा कभी किसी के साथ होगा। तो मिस्टर ग्रेगरी स्टीफन चैपल और किरण मोरे की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने मेरे साथ ऐसा किया। 

विराट सेंचुरी: 34वें शतक के साथ ही कोहली ने गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा

सुनील गावस्कर ने किया था मना

2004 में घर आते समय यह चर्चा चल रही थी कि जॉन राइट की जगह अगला कोच कौन होगा, तो मेरे दिमाग में पहली बार में ग्रेग चैपल का नाम आया। मुझे लगा कि ग्रेग चैपल हमें हमारी चैलेंजर्स की पोजिशन से नंबर एक के स्लॉट में ले जाने के लिए सबसे अच्छे रहेंगे। जब कोच के लिए तलाश हो रही थी तब मैंने डालमिया को चैपल के बारे में अवगत करा दिया था। कुछ लोगों ने मुझे ऐसा न करने की सलाह दी थी। उनमें से एक सुनील गावस्कर थे। सुनील गावस्कर ने उनसे कहा था- ”सौरव इस बारे में सोच लो। उनके (ग्रेग चैपल के) साथ टीम चलाने में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। उनका पिछला कोचिंग का रिकॉर्ड बहुत शानदार नहीं है।”

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hiring Chappell was the biggest mistake of my career Sourav Ganguly best kept secrets