फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटहेड कोच राहुल द्रविड़ का 'रौद्र' रूप, बल्लेबाजों को अल्टीमेटम देते हुए कहा- सिलेक्टर्स से करनी पड़ेगी बात

हेड कोच राहुल द्रविड़ का 'रौद्र' रूप, बल्लेबाजों को अल्टीमेटम देते हुए कहा- सिलेक्टर्स से करनी पड़ेगी बात

हेड कोच राहुल द्रविड़ ने एजबेस्टन में टीम इंडिया की हार के बाद कहा है कि बैटिंग चिंता का विषय है और इसको लेकर कुछ करना होगा। उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन सबको अल्टीमेटम जरूर दिया है।

हेड कोच राहुल द्रविड़ का 'रौद्र' रूप, बल्लेबाजों को अल्टीमेटम देते हुए कहा- सिलेक्टर्स से करनी पड़ेगी बात
Namita Shuklaभाषा,बर्मिंघमTue, 05 Jul 2022 09:51 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ एजबेस्टन में इंग्लैंड के खिलाफ मिली सात विकेट से हार के बाद काफी खफा नजर आए। द्रविड़ ने साथ ही बल्लेबाजों को अल्टीमेटम भी दे दिया है। टेस्ट क्रिकेट में तीसरी पारी में बल्लेबाजों के लगातार फेल होने को लेकर द्रविड़ ने कहा कि वह चयनकर्ताओं से इसको लेकर बात करेंगे। द्रविड़ की देखरेख में भारतीय टीम विदेश में अपने पिछले तीन टेस्ट मैच हार चुकी है, इसमें टीम दक्षिण अफ्रीका में दो टेस्ट मैच के बाद टीम बर्मिंघम में 378 रन के बड़े लक्ष्य का बचाव करने में फेल रही।

तीसरी पारी में बल्लेबाजी को लेकर द्रविड़ ने दिया 'अल्टीमेटम'

भारत ने जोहान्सबर्ग में अपनी दूसरी पारी में 266, केपटाउन में 198 और बर्मिंघम में 245 रन बनाए। इन तीनों मौकों पर भारत की दूसरी पारी टेस्ट मैच की तीसरी पारी थी। इन तीनों मैचों में भारतीय टीम 240, 212 और अब 378 रन के बड़े लक्ष्यों का बचाव करने में विफल रही। द्रविड़ से जब एजबेस्टन टेस्ट की हार के एक्सप्लेन करने को कहा गया, तो उन्होंने कहा, 'क्रिकेट इतना अधिक है कि हमारे पास सोचने का समय नहीं है। हम दो दिन के बाद ही आपसे शायद पूरी तरह से कुछ अलग बात करें।' 7 जुलाई से भारत और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज खेली जानी है।

ड्रॉ सीरीज को बार्मी आर्मी ने बताया जीत, अमित मिश्रा ने की बोलती बंद

उन्होंने कहा, 'हम हालांकि निश्चित रूप से इस प्रदर्शन पर विचार करने की कोशिश करेंगे। हर मैच हमारे लिए सबक है और आप कुछ न कुछ सीखते रहते हैं। हमें सोचना होगा कि हम टेस्ट मैच की तीसरी पारी में अच्छी बल्लेबाजी क्यों नहीं कर पा रहे हैं और चौथी पारी में हम 10 विकेट क्यों नहीं ले पा रहे हैं।' भारतीय टीम को वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के मौजूदा साइकिल में छह और मैच खेलने है और ये सभी मैच उपमहाद्वीप (चार भारत में और दो बांग्लादेश में) में है।

'हमारा पूरा ध्यान डब्ल्यूटीसी के बचे छह मैचों पर'

द्रविड़ कमियों का समीक्षा करने के लिए चेतन शर्मा (चयन समिति के अध्यक्ष जो अभी इंग्लैंड में है) के साथ बैठने की योजना बनाई है। उन्होंने कहा, 'अब अगले छह टेस्ट मैच उपमहाद्वीप में हैं और हमारा ध्यान उन बचे हुए मैचों पर होगा।  कोच और चयनकर्ता बैठकर इस हार का विश्लेषण करेंगे।' उन्होंने कहा, 'यह समीक्षा हर खेल के बाद होती है और इसलिए जब हम अगली बार SENA (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड ऑस्ट्रेलिया) देशों  के दौरे पर जाएंगे तो हम इससे निपटने के लिए बेहतर तरीके से तैयार होंगे।'

रूट ने रनों की तो बुमराह ने लगाई विकेटों की झड़ी- Top 5 List

टेस्ट की दूसरी पारी में गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के बाद फिटनेस को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में  उन्होंने कहा, 'यह एक ऐसी चीज है जिस पर हमें गौर करने और सुधार करने की जरूरत है। हम पिछले कुछ सालों में बहुत अच्छे रहे हैं और लगातार विकेट चटकाने में सफल रहे है। हां, हम पिछले कुछ मैचों में ऐसा नहीं कर पाए हैं।'

'बल्लेबाजी चिंता का विषय'

इस पूर्व दिग्गज ने कहा, 'इस प्रदर्शन के पीछे कई कारण हो सकते हैं। हमें मैच में अपनी आक्रामकता और लय बनाए रखने की जरूरत होगी। हो सकता है कि हमें फिटनेस के उस लेवल को बनाए रखने की जरूरत हो जैसा टेस्ट में जरूरी होता है।' उन्होंने इस दौरान कई बार कहा कि बल्लेबाजी चिंता का विषय है।द्रविड़ ने कहा, 'इन सभी टेस्ट मैचों में, तीसरी पारी में हमारी बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही है। इसलिए दक्षिण अफ्रीका और यहां हम अच्छी शुरुआत को भुना नहीं पाए। हमें बेहतर होने के लिए निश्चित रूप से सुधार करना होगा।'

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।
epaper