Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटहेड कोच राहुल द्रविड़ ने बताया क्यों आर अश्विन का हरभजन सिंह का रिकॉर्ड तोड़ना है अविश्वसनीय

हेड कोच राहुल द्रविड़ ने बताया क्यों आर अश्विन का हरभजन सिंह का रिकॉर्ड तोड़ना है अविश्वसनीय

भाषा,कानपुरNamita Shukla
Tue, 30 Nov 2021 08:13 AM
हेड कोच राहुल द्रविड़ ने बताया क्यों आर अश्विन का हरभजन सिंह का रिकॉर्ड तोड़ना है अविश्वसनीय

इस खबर को सुनें

टीम इंडिया के हेड कोच और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने स्टार ऑफ स्पिनर आर अश्विन को मैच विनर बताया है। टेस्ट क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में आर अश्विन ने कानपुर टेस्ट के दौरान हरभजन सिंह को पीछे छोड़ते हुए टॉप-3 में जगह बना ली है। द्रविड़ ने इस उपलब्धि को बहुत खास बताया है, साथ ही कहा कि 80वें टेस्ट में ऐसा करना अविश्वसनीय है।

अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के पांचवें और अंतिम दिन टॉम लाथम को आउट कर अपना 418वां टेस्ट विकेट लिया और हरभजन सिंह को पीछे छोड़ दिया। वह अब अनिल कुंबले (619) और कपिल देव (434) से पीछे हैं। द्रविड़ ने मैच के बाद कहा, 'मुझे लगता है कि यह एक अभूतपूर्व उपलब्धि है। आप जानते हैं कि हरभजन सिंह सच में एक बेहतरीन गेंदबाज थे, जिनके साथ मैंने काफी क्रिकेट खेला है। अश्विन का सिर्फ 80 टेस्ट मैचों में उनसे आगे निकलना एक अभूतपूर्व उपलब्धि है।' हरभजन ने 103 टेस्ट में 417 विकेट लिए थे।

 

भारतीय हेड कोच ने कहा, 'अश्विन उन खिलाड़ियों में से हैं, जो भारत के लिए मैच विनर हैं। आपने इस मुश्किल विकेट पर इस बात को महसूस किया होगा। मैच के तीसरे दिन 11 ओवर के स्पैल में उन्होंने जिस तरह से हमारी वापसी करवाई वह बिल्कुल अभूतपूर्व था।' उन्होंने कहा, 'आज भी जिस तरह से उन्होंने हमें मैच में बनाए रखा वह उनकी स्किल्स और क्षमता को दर्शाता है।' द्रविड़ ने कहा कि तमिलनाडु के इस ऑफ स्पिनर गेंदबाज ने पिछले कुछ सालों में अपने खेल में और सुधार किया है। उन्होंने कहा, 'उसकी गेंदबाजी और बेहतर होती जा रही है। वह उन लोगों में से एक है जो खेल के बारे में सोचता रहता है, बदलाव करता रहता है, सुधार करता रहता है। यही कारण है कि उसे वह मिला है जहां वह आज है।'

हेड कोच राहुल द्रविड़ ने बताया क्यों आर अश्विन का हरभजन सिंह का रिकॉर्ड तोड़ना है अविश्वसनीय
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें