फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटHCA ने टीम को दिया बड़ा इनाम, रणजी ट्रॉफी जीतने पर BMW कार भी देने का किया वादा

HCA ने टीम को दिया बड़ा इनाम, रणजी ट्रॉफी जीतने पर BMW कार भी देने का किया वादा

हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन यानी HCA ने टीम को बड़ा इनाम दिया है। संघ ने टीम को 10 लाख रुपये रणजी प्लेट चैंपियंस बनने पर दिए, जबकि रणजी ट्रॉफी जीतने पर BMW कार देने का वादा किया है। 

HCA ने टीम को दिया बड़ा इनाम, रणजी ट्रॉफी जीतने पर BMW कार भी देने का किया वादा
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 21 Feb 2024 11:48 AM
ऐप पर पढ़ें

रणजी ट्रॉफी 2024 के ग्रुप स्टेज के मैच खत्म हो गए हैं और जल्द नॉकआउट का दौर शुरू होगा। ग्रुप स्टेज की बात करें तो प्लेट ग्रुप में हैदराबाद की टीम ने बाजी मारी और टीम पांच में से पांच मैच जीतने में सफल हुई। फाइनल में हैदराबाद ने मेघालय की टीम को हराया और टीम प्लेट ग्रुप की चैंपियन बनी। हालांकि, रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट स्टेज में टीम को जगह नहीं मिली। बावजूद इसके हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन यानी एचसीए ने टीम के लिए बड़ा ऐलान किया है। संघ ने खिलाड़ियों को इनाम देने का फैसला किया है और वादा किया है कि अगर अगले तीन साल में टीम रणजी ट्रॉफी जीतती है तो एक लग्जरी कार और एक करोड़ रुपये का इनाम खिलाड़ियों को प्रोत्साहन के तौर पर दिया जाएगा। 

हैदराबाद के रणजी प्लेट चैंपियन बनने पर एचसीए प्रमुख जगन मोहन राव अरिश्नापल्ली ने टीम को 10 लाख रुपये और उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालों को 50 हजार रुपये का पुरस्कार दिया है। इतना ही नहीं, उन्होंने अगले 3 वर्षों में हैदराबाद के रणजी चैंपियन बनने पर टीम को बीएमडब्ल्यू कार और 1 करोड़ रुपये देने का भी वादा किया। टीम के पास आने वाले सत्रों में खिताब जीतने का मौका होगा, क्योंकि टीम के पास कई खिलाड़ी ऐसे होंगे, जिनको इंटरनेशनल क्रिकेट का अनुभव होगा। यहां तक कि इस सीजन के कप्तान तिलक वर्मा भी इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू कर चुके हैं।  

IPL ऑल-टाइम बेस्ट 16 खिलाड़ियों की लिस्ट जारी, एमएस धोनी-रोहित शर्मा समेत किसको-किसको मिला मौका

रणजी ट्रॉफी में हैदराबाद क्रिकेट टीम के इतिहास की बात करें तो टीम दो बार चैंपियन बनी है। 1937/38 और 1986/87 में हैदराबाद की टीम ने खिताब जीता था, जबकि तीन बार टीम उपविजेता भी रही। हैरान करने वाली बात ये है कि टीम ने 1999/2000 के बाद से फाइनल तक का सफर तय नहीं किया है। टीम 1942/43, 1964/65 और 1999/2000 के सीजन में उपविजेता रही। अब टीम से उम्मीद है कि आने वाली सत्रों में टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें