फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटहार्दिक पांड्या का खुलासा, वर्ल्ड कप 2023 के दौरान मुझे इंजेक्शन पर इंजेक्शन लगे, लेकिन...

हार्दिक पांड्या का खुलासा, वर्ल्ड कप 2023 के दौरान मुझे इंजेक्शन पर इंजेक्शन लगे, लेकिन...

टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने खुलासा किया है कि वर्ल्ड कप 2023 के दौरान मुझे इंजेक्शन पर इंजेक्शन लगे, लेकिन इससे कोई फायदा नहीं हुआ। 10 दिन बाद कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुआ। 

हार्दिक पांड्या का खुलासा, वर्ल्ड कप 2023 के दौरान मुझे इंजेक्शन पर इंजेक्शन लगे, लेकिन...
hardik pandya chhapari injured
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 17 Mar 2024 01:25 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या आईपीएल 2024 के जरिए प्रोफेशनल क्रिकेट में वापसी कर रहे हैं। उनको वर्ल्ड कप 2023 के दौरान एंकल इंजरी हुई थी। इसके कारण वे करीब चार महीने तक क्रिकेट से दूर रहे। हालांकि, मार्च की शुरुआत में वे मुंबई में एक लोकल टी20 टूर्नामेंट में खेले और अफनी फिटनेस साबित की। अब वे आईपीएल 2024 में मुंबई इंडियंस के लिए खेलने वाले हैं, लेकिन इससे पहले उन्होंने बताया है कि वर्ल्ड कप 2023 वापसी करने के लिए उन्होंने इंजेक्शन पर इंजेक्शन लिए, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। 

हार्दिक पांड्या ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, ''मैंने मैनेजमेंट से कहा था कि मैं 5 दिन बाद लौटूंगा, फिर मैंने अपने टखने पर तीन जगह इंजेक्शन लगवाए, मुझे अपने टखने से खून निकालना पड़ा, मैं सबकुछ देना चाहता था, फिर जैसे-जैसे मैं जोर लगा रहा था, वैसे-वैसे ये होता गया। 3 महीने की चोट, मैं चलने में सक्षम नहीं था फिर भी मैं आखिरी बार आगे बढ़ने के लिए 10 दिनों तक दर्द निवारक दवाएं ले रहा था, क्योंकि अपने देश के लिए खेलना सबसे बड़ा गौरव है, लेकिन मैं मिस कर गया।''

ये भी पढ़ेंः रोहित शर्मा की जय शाह से डिमांड, टी20 वर्ल्ड कप में हमें किसी भी कीमत पर चाहिए विराट कोहली! पूर्व क्रिकेटर का दावा

बैटिंग ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को वर्ल्ड कप 2023 के टीम इंडिया के चौथे लीग मैच में चोट का सामना करना पड़ा था। कहा जा रहा था कि कुछ ही मैचों को मिस करने के बाद वे लौटेंगे, लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ। यहां तक कि खुद हार्दिक पांड्या भी यही सोच रहे थे कि वे 10 दिन में ठीक हो जाएंगे, लेकिन ये संभव नहीं हुआ। हार्दिक पांड्या की वजह से टीम कॉम्बिनेशन पर असर पड़ा, लेकिन जैसे ही मोहम्मद शमी की वापसी प्लेइंग इलेवन में हुई तो उन्होंने हार्दिक की कमी को महसूस ही नहीं होने दिया। शमी ने लगातार विकेट निकाले। हालांकि, फाइनल मैच भारत की टीम ऑस्ट्रेलिया से हार गई।