फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटचेतेश्वर पुजारा के साथ हुए बर्ताव से नाखुश हैं हरभजन सिंह, कहा- जैसे उसको टीम से फेंका गया, मैं देखकर हैरान हूं

चेतेश्वर पुजारा के साथ हुए बर्ताव से नाखुश हैं हरभजन सिंह, कहा- जैसे उसको टीम से फेंका गया, मैं देखकर हैरान हूं

वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टेस्ट स्क्वॉड का जब ऐलान हुआ, तब चेतेश्वर पुजारा का नाम उसमें शामिल नहीं था। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 फाइनल मैच के बाद पुजारा को टेस्ट स्क्वॉड में जगह नहीं मिली।

चेतेश्वर पुजारा के साथ हुए बर्ताव से नाखुश हैं हरभजन सिंह, कहा- जैसे उसको टीम से फेंका गया, मैं देखकर हैरान हूं
Namita Shuklaपीटीआई,नई दिल्लीTue, 11 Jul 2023 03:15 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आगाज 12 जुलाई से होना है। इस टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया चेतेश्वर पुजारा के बिना खेलने उतरेगी। आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) 2021-23 के फाइनल मैच में खराब प्रदर्शन के बाद पुजारा को टेस्ट स्क्वॉड से बाहर का रास्ता दिखाया गया, जबकि यशस्वी जयसवाल और ऋतुराज गायकवाड़ जैसे युवा क्रिकेटरों को टेस्ट स्क्वॉड में जगह मिली है। वहीं अजिंक्य रहाणे को डब्ल्यूटीसी फाइनल में अच्छा प्रदर्शन करने का फायदा मिला। वह टेस्ट स्क्वॉड का हिस्सा तो हैं ही साथ में उन्हें उप-कप्तानी भी दोबारा सौंपी गई है। टीम इंडिया के पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह हालांकि पुजारा को इस तरह से टेस्ट स्क्वॉड से बाहर निकालने से खुश नहीं हैं। उनका मानना है कि पुजारा ने टीम इंडिया के लिए जो कुछ भी किया है, उसके लिए उन्हें और इज्जत मिलनी चाहिए थी। पुजारा ने 2010 में टीम इंडिया के लिए टेस्ट डेब्यू किया था और तब से लेकर अभी तक वह 103 टेस्ट मैचों में 43.60 की औसत से 7195 रन बना चुके हैं। पुजारा 19 टेस्ट शतक लगा चुके हैं और 35 वर्षीय पुजारा के लिए अब टेस्ट स्क्वॉड में वापसी का रास्ता आसान नहीं होगा।

खिलाड़ियों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं कप्तान रोहित, अश्विन ने बताया

हरभजन सिंह ने कहा, 'चेतेश्वर पुजारा ने जो कुुछ भी हासिल किया है, उसके लिए मैं उसकी बहुत इज्जत करता हूं। वह काफी सालों से टीम इंडिया के अनसंग हीरो रहे हैं, वह टीम इंडिया के लिए ऐसे मजबूत स्तंभ रहे हैं, नाम ना बनाने वाले काम करके टीम को संकट से उबारा है। जिससे बाकी बल्लेबाजों को कंफर्ट मिले। मुझे ऐसा लगता है कि उसे इससे ज्यादा इज्जत मिलनी चाहिए थी, जो उसे अभी दी जा रही है। उसे जिस तरह से टीम से बाहर फेंका गया, वह देखकर मैं हैरान हूं, क्योंकि वह अकेला ऐसा बल्लेबाज नहीं था, जो रन नहीं बना रहा था। टीम में और भी हैं, जो उसकी तरह की बल्लेबाजी कर रहे थे, जिन्होंने उतने ही एवरेज से उतने ही रन बनाए हैं।'

टीम इंडिया की नई टेस्ट जर्सी आई सामने, फैन्स ने लगाई BCCI की क्लास

पुजारा को दिलीप ट्रॉफी में वेस्ट जोन की ओर से खेलने का मौका मिला और उन्होंने अहम मैच में शतक लगाकर सिलेक्टर्स को करारा जवाब भी दिया। पुजारा की अब टेस्ट टीम में वापसी होती है या नहीं, यह तो आने वाले कुछ महीनों में ही पता चलेगा। क्योंकि अगर वह 3-4 महीने में वापसी नहीं कर पाते हैं, तो ऐसे में उनके लिए आगे वापसी करना और भी मुश्किल हो जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें