फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटहरभजन सिंह ने पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख पर अवैध गतिविधियों का लगाया आरोप, पीसीए सदस्यों को पत्र लिखा

हरभजन सिंह ने पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख पर अवैध गतिविधियों का लगाया आरोप, पीसीए सदस्यों को पत्र लिखा

हरभजन सिंह ने पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष गुलजारिंदर चहल पर अवैध गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया है। हरभजन ने कहा कि उन्हें विभिन्न हितधारकों और क्रिकेट प्रेमियों से शिकायतें मिली हैं।

हरभजन सिंह ने पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख पर अवैध गतिविधियों का लगाया आरोप, पीसीए सदस्यों को पत्र लिखा
Himanshu Singhएजेंसी,नई दिल्लीFri, 07 Oct 2022 07:30 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत के पूर्व क्रिकेटर और पंजाब क्रिकेट संघ के मुख्य सलाहकार हरभजन सिंह ने आरोप लगाया है कि पीसीए के कुछ अधिकारी 'अवैध कार्यों' में संलिप्त हैं। हरभजन ने पत्र में उन पदाधिकारियों का नाम नहीं लिया। पत्र पीसीए सदस्यों और संघ की जिला ईकाइयों को भेजा गया है। 

राज्यसभा सांसद हरभजन ने मुख्यमंत्री भगवंत मान और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी विस्तृत पत्र लिखा।

उन्होंने पत्र में लिखा, ''लब्बोलुआब यह है कि पीसीए 150 सदस्यों को मताधिकार के साथ शामिल करना चाहता है ताकि उनका पलड़ा भारी रहे। यह सब मुख्य सलाहकार से सलाह लिए बिना या शीर्ष परिषद से पूछे बिना किया जा रहा ह। यह बीसीसीआई संविधान, पीसीए के दिशा निर्देश के खिलाफ है और खेल ईकाइयों के पारदर्शिता के नियम का उल्लंघन भी है।''

उन्होंने कहा, ''अपने अवैध कार्यों को छिपाने के लिए वे पीसीए की औपचारिक बैठकें नहीं बुला रहे हैं और खुद सारे फैसले ले रहे हैं।''

डेविड वॉर्नर और मिशेल स्टार्क के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने विंडीज का 2-0 से सफाया किया, दूसरे मैच में 31 रनों से धोया

पत्र के बारे में पूछने पर हरभजन ने पीटीआई से कहा, ''मुझे पिछले 10-15 दिन से शिकायतें मिल रही है। मुझे मुख्य सलाहकार बनाया गया है, लेकिन अधिकांश नीतिगत फैसलों के बारे में मुझे बताया नहीं जाता। मुझे सदस्यों और मुख्यमंत्री को पत्र लिखना पड़ा, क्योंकि कोई और चारा नहीं था।''

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।