DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  Happy Birthday Dinesh Karthik: फैन्स को आज भी याद है दिनेश कार्तिक का एमएस धोनी वाला अंदाज, छक्का लगाकर टीम को जिताया था हारा हुआ मैच

क्रिकेटHappy Birthday Dinesh Karthik: फैन्स को आज भी याद है दिनेश कार्तिक का एमएस धोनी वाला अंदाज, छक्का लगाकर टीम को जिताया था हारा हुआ मैच

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mohan Kumar
Tue, 01 Jun 2021 12:24 PM
Happy Birthday Dinesh Karthik: फैन्स को आज भी याद है दिनेश कार्तिक का एमएस धोनी वाला अंदाज, छक्का लगाकर टीम को जिताया था हारा हुआ मैच

आज का दिन भारतीय क्रिकेट के लिए बेहद खास है, क्योंकि आज विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक अपना 36वां जन्मदिन मना रहे हैं। 1 जून 1985 को चेन्नई में जन्मे कार्तिक ने साल 2004 में भारतीय टीम में जगह बना ली थी, लेकिन उनका जगह कभी भी टीम में पक्की नहीं रही। कार्तिक उस विश्व विजेता टीम क सदस्य भी रहे हैं, जिसने पहली बार 2007 में आयोजित हुए टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान को हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था। उनके जुड़े यादगार लम्हों में 2018 में निदाहास ट्रॉफी के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ खेली गई 34 रनों की वह पारी शामिल है, जब उन्होंने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तरह छक्का लगाकर टीम को खिताब दिलाया था।

पूर्व भारतीय कप्तान दिलीप वेंगसरकर ने बताया, क्यों WTC फाइनल में न्यूजीलैंड टीम का पलड़ा होगा भारी

कोलंबो में खेले गए इस मुकाबले में कार्तिक ने 8 गेंद पर 29 रनों की पारी खेली थी। भारत को फाइनल मुकाबले में आखिरी दो ओवरों में 34 रन चाहिए थे। कार्तिक ने 19वें ओवर में 22 रन ठोके। भारत को आखिर गेंद पर पांच रनों की जरूरत थी और उस गेंदबाजी बांग्लादेश के पार्टटाइम गेंदबाज सौम्य सरकार कर रहे थे। कार्तिक ने यहां आखिरी गेंद पर एक्सट्रा कवर के ऊपर से छक्का लगाकर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई। टीम को इस तरह जीत दिलाने से फैन्स उन्हें धोनी के बाद यहा मिस्टर फिनिशर बुलाने लगे थे।

मोंटी पनेसर ने हेड कोच रवि शास्त्री को दिया टीम इंडिया की कामयाबी का श्रेय, सलमान बट ने किया पलटवार

कार्तिक ने मैच को लेकर बाद में बताया था कि, 'पहले मैं नंबर-5 पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार था, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि मैं नंबर-6 पर बल्लेबाजी के लिए जाऊंगा। इसलिए मैं इसके साथ भी खुश था। मैं इसे लेकर पूरी तरह से आश्वस्त था कि मैं नंबर-6 पर बल्लेबाजी करने के लिए जाऊंगा। उन्होंने कहा कि, 'जब चौथा विकेट आउट हो गया था तो मैं बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरने के लिए तैयार था, लेकिन तभी रोहित ने कहा कि विजय शंकर को बल्लेबाजी के लिए जाना चाहिए। इसलिए उस समय मैं काफी निराश और गुस्से में था। लेकिन जाहिर है कि आप कप्तान से सवाल नहीं कर सकते।'

संबंधित खबरें