फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटगौतम गंभीर ने एमएस धोनी को बताया अपना फेवरिट बैटिंग पार्टनर, बोले- लोग सोचते हैं कि...

गौतम गंभीर ने एमएस धोनी को बताया अपना फेवरिट बैटिंग पार्टनर, बोले- लोग सोचते हैं कि...

पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एमएस धोनी को अपना फेवरिट बैटिंग पार्टनर व्हाइट बॉल क्रिकेट में बताया। उन्होंने कहा कि लोग सोचते हैं कि उनका फेवरिट पार्टनर सहवाग था, लेकिन ऐसा नहीं है। 

गौतम गंभीर ने एमएस धोनी को बताया अपना फेवरिट बैटिंग पार्टनर, बोले- लोग सोचते हैं कि...
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 22 Nov 2023 08:08 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने व्हाइट बॉल क्रिकेट में अपने फेवरिट बैटिंग पार्टनर का नाम बताया है। ये वीरेंद्र सहवाग या सचिन तेंदुलकर नहीं, बल्कि एमएस धोनी हैं। गंभीर ने कहा कि लोग सोचते हैं कि वीरेंद्र सहवाग उनके पसंदीदा बैटिंग पार्टनर थे, लेकिन ऐसा नहीं है। उन्होंने हमेशा एमएस धोनी के साथ बल्लेबाजी का आनंद लिया, खासकर सफेद गेंद वाले क्रिकेट में। गंभीर और धोनी ने 2011 विश्व कप के फाइनल में 109 रन की ऐतिहासिक साझेदारी की थी। इसी साझेदारी की बदौलत भारत ने श्रीलंका के खिलाफ खिताबी जीत हासिल की थी, जिसमें गौतम गंभीर ने 97 और धोनी ने नाबाद 91 रन बनाए थे। 

गौतम गंभीर ने स्पोर्ट्सकीड़ा पर बाते करते हुए कहा, "मेरे पसंदीदा क्रिकेट पार्टनर एमएस धोनी थे। लोग सोचते हैं कि मेरा पसंदीदा बल्लेबाजी साथी वीरेंद्र सहवाग था, लेकिन वास्तव में मुझे धोनी के साथ खेलना ज्यादा पसंद था, खासकर सफेद गेंद वाले क्रिकेट में। हम दोनों ने साथ में कई बड़ी साझेदारियां कीं हैं।" अक्सर गौतम गंभीर पर आरोप लगता है कि वे धोनी के खिलाफ बोलते हैं, लेकिन इस बार गंभीर ने एमएस धोनी को अपना फेवरिट बैटिंग पार्टनर बताकर सभी का मुंह बंद करने का काम किया है। गंभीर धोनी को लेकर बात जरूर करते हैं, लेकिन वे उनसे खफा नहीं रहते हैं। 

ऐसा पहली बार नहीं है जब गौतम गंभीर ने एमएस धोनी की तारीफ की। इससे पहले वे कई बार कह चुके हैं कि टीम के लिए एमएस धोनी ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट के रनों को दांव पर लगा दिया था। गंभीर ने कहा था कि अगर एमएस धोनी टॉप ऑर्डर में बैटिंग करते तो कई रिकॉर्ड देते। उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा था, "अगर एमएस ने नंबर 3 पर बल्लेबाजी की होती, तो मुझे यकीन है कि वह कई वनडे रिकॉर्ड तोड़ सकते थे।"

ये भी पढ़ेंः T20 वर्ल्ड कप 2024 से पहले ये है टीम इंडिया का संभावित शेड्यूल, 6 सीरीज और IPL है शामिल

गंभीर ने आगे कहा, "लोग हमेशा एमएस धोनी और एक कप्तान के रूप में उनकी उपलब्धियों के बारे में बात करते हैं, जो बिल्कुल सच है, लेकिन मुझे लगता है कि कप्तानी के कारण उन्होंने अपने अंदर के बल्लेबाज का त्याग कर दिया और वह अपने बल्ले से बहुत कुछ हासिल कर सकते थे, जो उन्होंने नहीं किया। और ऐसा तब होता है जब आप कप्तान होते हैं, क्योंकि तब आप टीम को आगे रखते हैं और अपने बारे में भूल जाते हैं।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें